पर्वत किसे कहते है ( पर्वत कितने प्रकार के होते है )

 पर्वत किसे कहते है .

पर्वत भूमि का ऐसा भूभाग होता है जो निकट के धरातल से अत्यधिक ऊँचाई में उठा हो , या तो अकेले ऊँचा हो अथवा श्रेणी में अथवा श्रृंखला में हो , पर्वत कहलाता है । कुछ भूगोलवेत्ता 600 मीटर से अधिक की ऊँचाई को पर्वत कहते हैं जबकि उससे नीचे के उठे भाग को पहाड़ियों की संज्ञा देते हैं ।

समस्त भूपटल के लगभग 26 % भाग पर पर्वत एवं पहाड़ियाँ है , जो भूपर्पटी के द्वितीय श्रेणी के उच्चावच है ।

 

 पर्वतो के  निर्माण के सिद्धांत  

  1. हैरी हेस तथा मैंकेजी का प्लेट विर्वतनिक सिद्धांत
  2. कोबर का भूसन्नति सिद्धांत
  3. जेफ्रीज का तापीय संकुचन सिद्धांत
  4. होम्स का संवहन तरंग सिद्धांत
  5. वेगनर का महाद्वीपीय विस्थापन
  6. जोली का रेडियो एक्टिविटी सिद्धांत

 

निर्माण प्रक्रिया के आधार पर पर्वतों को निम्नलिखित रूप से विभाजित किया जाता है

 

  1. वलित पर्वत ( Folded mountains ) :

ये पृथ्वी की आंतरिक शक्तियों द्वारा जब चट्टानों में मोड़ या वलन पड़ जाते हैं तो उन्हें मोड़दार या वलित पर्वत कहते हैं ।  वलित पर्वतों के निर्माण का सिद्धांत प्लेट टेक्टोनिक की संकल्पना पर आधारित है । भारत का अरावली पर्वत विश्व के सबसे पुराने जबकि हिमालय सबसे युवा पर्वतों में गिना जाता है ।.

जैसे : यूरोप में आल्पस , एशिया में हिमालय , अफ्रीका में एटलस , ऑस्ट्रेलिया का ग्रेट डिवाइडिंग रेंज , दक्षिण अमेरिका का एण्डीज , उत्तरी अमेरिका का रॉकी ।

 

  1. भंशोत्थ पर्वत ( Blockmountains ) :

पृथ्वी की आंतरिक शक्तियों के प्रभाव से धरातल पर विकसित दो समानान्तर भ्रंशों के भ्रंश तलों के सहारे उत्थित स्थलखण्ड भ्रंशोत्थ पर्वतो  के रूप में विकसित होते हैं और बीच के धंसे भाग को रिफ्ट घाटी कहते हैं ।

इसे भी पढ़े :     भूकंप कैसे आता है

 जैसे : भारत में नीलगिरि , कैलिफोर्निया में सियरा नेवादा , पाकिस्तान में साल्ट रेंज , जर्मनी का ब्लैक फारेस्ट , फ्रांस में वासजेस ।

 

  1. ज्वालामुखीय पर्वत ( Volcanic moun tains ) :

इसका निर्माण ज्वालामुखी के उद्गार से निकले लावा आदि पदार्थों के जमाव से होता है ।  इसकी आकृति शंकुनुमा होती है । इसके सबसे ऊपरी भाग में कीपनुमा गड्ढा होता है , जिसे क्रेटर कहते हैं ।

जैसे : अफ्रीका में किलिमंजारो , संयुक्त राज्य अमेरिका में माउन्ट रेनियर , हुड और शास्ता , जापान में फ्यूजीयामा , एन्डीज का कोटापैक्सी , चिली का एकांकागुआ ।

 

  1. गुम्बदनुमा पर्वत ( Domed Moun tains ) :

जब पृथ्वी के धरातलीय भाग में चाप के आकार में उभार होने से धरातलीय भाग ऊपर उठ जाता है तो उसे गुम्बदनुमा mountains कहा जाता है । जैसे – संयुक्त राज्य अमेरिका की ब्लैक पहाड़ियाँ , सिनसिनाती उभार और हेनरी पर्वत । .

 

  1. अवशिष्ट पर्वत ( Residual Moun tains ) :

वे पर्वत जो एक लंबे समय अंतराल में अपरदन की प्रक्रिया द्वारा काट – छांट से निर्मित होते हैं , अवशिष्ट mountains कहते हैं । जैसे : भारत में विन्ध्याचल एवं सतपुड़ा नीलगिरी , पारसनाथ , राजमहल की पहाड़ियाँ , स्पेन में सीयरा , अमेरिका में गैसा एवं बुटे आदि ।

 

 निर्माण प्रक्रिया के आधार पर पर्वतों का विभाजन

वलन के ऊपर उठे भाग को अपनति ( एन्टीक्लाइन ) तथा नीचे धंसे भाग को अभिनति ( सिक्लाइन ) कहा जाता है ।

पर्वतो के  निर्माणकारी काल के आधार पर वर्गीकरण

( 1 ) प्री – कैम्ब्रियन पर्वत : प्रारम्भिक कैम्ब्रियन युग में निर्मित mounten जैसे अरावली ( गोण्डवाना लैण्ड ) , स्कैण्डिनेविया ( अंगारालैण्ड ) आदि ।

इसे भी पढ़े :   मौलिक अधिकार

( 2 ) कैलीडोनियन पर्वत : पुराजीवी काल में बने पहाड़ जैसे अप्लेशियन ( USA ) , अल्टाई , ब्रोकनहिल्स , आल्पस आदि ।

( 3 ) हरसीनियन पर्वत : उत्तर पुराजीवी काल में बने पहाड़ जैसे पेंटागोनिया ( द . अमेरिका ) ड्रेकेन्सबर्ग ( अफ्रीका ) ब्लैक फोरेस्ट ( जर्मनी ) यूराल ( रूस ) आदि । इसे कार्बोनिफेरस कालीन पर्वत भी कहते हैं ।

( 4 ) अल्पाइन पर्वत : टर्शियरी काल ( कल्प ) में बने नवीन मोड़दार पर्वत जैसे – राकी , हिमालय , एंडिज , आल्पस , पिनेरीज आदि ।

 

महत्वपूर्ण तथ्य *

  • अफ्रीका का सर्वोच्च शिखर माउण्ट किलिमंजारो है ।
  • रॉकी पर्वतमाला महाद्वीपीय जल विभाजक के रूप में जानी जाती है ।
  • पिरेनीज पहाड़ फ्रांस और स्पेन के मध्य स्थित है ।
  • माउण्ड ब्लैक , आल्पस पर्वत का सर्वोच्च शिखर है जो यूरोप में स्थित है ।
  • व्हाइट mounten कैलिफोर्निया में स्थित है ।
  • विश्व की सर्वाधिक लंबी पर्वत श्रृंखलाएँ- एण्डीज ( 7000 किमी ) , रॉकी ( 4800 किमी ) एवं हिमालय ( 2500 किमी ) ।
  • आल्पस पर्वत फ्रांस , इटली , स्विट्जरलैंड त तथा ऑस्ट्रिया में विस्तृत है ।
  • अफ्रीका का एटलस पर्वत मोरक्को , अल्जीरिया एवं ट्यूनीशिया में विस्तृत हैं ।
  • प्राचीन पहाड़- ये वे पर्वत हैं जो महाद्वीपीय प्रवाह से पेंजिया बनने के बहुत पहले बन चुके थे । जैसे – पेनाइन्स ( यूरोप ) , अप्लेशियन ( अमेरिका ) तथा अरावली पर्वत शृंखला ( भारत ) ।
  • नवीन या युवा पहाड़ – ये वे पर्वत हैं जो महाद्वीपीय प्रवाह के बहुत बाद अस्तित्व में आए , जैसे – हिमालय पर्वतशृंखला , एण्डीज , रॉकीज एवं आल्पस आदि ।
  • ब्लैक पर्वत संयुक्त राज्य अमेरिका के नार्थ कैरोलीना प्रांत में अवस्थित है । भारत और म्यांमार के बीच सीमा निर्धारित करने वाली तीन पर्वत ( नागा , लुशाई , पटकोई ) जिसे बर्मीज अराकान योमा कहा जाता है ।
  • विश्व की प्रथम 10 सर्वोच्च चोटियां नवीन मोड़दार / वलित पहाड़ो में स्थित है ।
  • पर्वतीय स्लोपो ( hill slopes ) पर मृदा अपरदन को रोकने के लिए सोपान कृषि की जाती है ताकि वर्षा का पानी रूक – रूक कर बहे ।
  • यूरोप का सर्वोच्च पर्वत शिखर एल्ब्रुस शिखर काकेशस पर्वतमाला पर स्थित है ।
  • काला पहाड़ भूटान में स्थित है ।
  • माउंट टिटलिस जो ज्वालामुखी लावा के शीतलन से निर्मित पर्वत है , स्विट्जरलैंण्ड में स्थित है ।
  • विश्व का सबसे बड़ा ब्लॉक पहाड़ सियरा नेवाद ( कैलिफोर्निया USA ) में स्थित है ।
  • विश्व का सबसे लम्बा भ्रंश ( रिफ्ट ) घाटी जार्डन नदी घाटी ( 4800 किमी ) है ।
  • विश्व का सबसे बड़ा गुम्बदाकार पहाड़ सिनसितानी ( USA ) में है ।

इसे भी पढ़े : झांसी की रानी लक्ष्मीबाई

 

विश्व के प्रमुख पर्वतो की  श्रेणीयां

 

नाम  स्थितिसर्वोच्च बिंदउचाई ( मी )लम्बाई ( किमी )
कालिस हि लॉस एण्डोजपश्चिमी दक्षिण अमेरिकाएकांकागुआ  69607.200
रॉकी पर्वत श्रेणीपश्चिमी उत्तरी अमेरिकामाउण्ट एल्बई4 4004,800
हिमालय – कराकोरम – हिंदुकुशदक्षिणी मध्य एशियामाउन्ट एवरेस्ट8,8483800
ग्रेट डिवाइडिंग रेंजपूर्वी ऑस्ट्रेलियाकोस्यूस्को2.2283600
ट्रान्स अंटार्कटिका पहाड़अंटार्कटिकामाउण्ट किक्रपैट्रिक45293.500
ब्रजीलियन अटलाण्टिक तटीय श्रेणीपूर्वी ब्राजीलपिको डिबैण्डेरिया28903,000
पशिचमी सुमात्रा तथा जावासुमात्रा तथा जावाकेरिण्टजी3,8052,900
एल्यूशियन रेंजअलास्का तथा प्रसान्त महाशागर   शिशैल्डिन30002,650
तियान शानदक्षिणी मध्य एशियापीके पोबेडा7,439  2.250
सेण्ट्रल न्यू गिनीया रेंज  इरियन जया – पापुआ न्यू गिनीजायाकुसुमु4,8832,000
अल्टाई माउण्टेन्समध्य एशियागोरा बेलुखा4,5052.000
यूराल पहाड़ श्रेणीमध्यरूसगोरा नैरोड्नाया1,8942,000
कमचटका स्थित श्रेणीपूर्वी रूसक्ल्यूचेसकाया सोपका4,8501,930
एटलसउत्तरी – पश्चिमी अफ्रीकाजेबेल टाउब्काल4,1651,930
   बोयान्सक पहाड़पूर्वी रूसगोरा मासखाया2,9591,610
पश्चिमी घाटपश्चिमी भारतअनाईमुदी2,6941,610
सियरा माद्रे ओरिएण्टलमैक्सिकोओरीजाबा5,6991,530
जैग्रोस mountains श्रेणीईरानजॉर्ड कुह4,5471,530
स्कैण्डीनेवियन रेंज पश्चिमी नार्वेगैलढोपिजेन2,4701,530
इथियोपियन उच्चभूमिइथियोपियारास डासन4,6001,450
पश्चिमी सियरा माद्रेमेक्सिकोनेवाडो डि कोलिमा4,2001,450
मलागासी श्रेणीमेडागास्कर द्वीपमारामोकोट्रो28761,370
ड्रेकेन्सबर्गदक्षिण – पूर्व अफ्रीकाथबानाएन्टलेन्याना3,4821,290
चेर्सकोगो खेबेट| पूर्वी रूसगोरा पोबेडा3,1471,290
काकेशसजार्जियाएलब्रुश ( प . चोटी )5,6331,200
अलास्का श्रेणीअलास्का ( सं . रा . अमेरिका )माउण्ट मैकिन्ले ( दक्षिणी चोटी )6,1931,130
असम – म्यांमार श्रेणीअसम – प . म्यान्मार –हकाकाबो राजी5,8811,130
कास्केड रेंज  सं . रा . अमेरिका – कनाडामाउण्ट रेनियर4,3921,130
सेण्ट्रल बोर्नियो रेंजमध्य बोर्नियोकीनाबालू4,1011,130
टीहामाट ऐश शामद . पश्चिमी अरेबियाजेबेल हाधार3,7001,130

दोस्तों उम्मीद करता हूँ की आप आर्टिकल में बिस्तार से जाने होंगे पर्वत किसे कहते है .पर्वत कितने प्रकार के होते है तो आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो हमें अपना प्यार जरुर दे | धन्यवाद 

comment here