बिहार के बारे में जानकारी चाहिए

बिहार के बारे में .

अकसर आपलोग पूछते थे की बिहार के बारे में जानकारी चाहिए तो आज हम आपके लिए बिहार की सभी महत्वपूर्ण जानकारी को इस आर्टिकल में बिस्तार से जानेगे तो आप इस आर्टिकल को पूरा पढ़े ताकि आप बिहार के बारे में अच्छी जानकारी प्राप्त हो पायेगा |

नामकरण महत्त्व

12 वीं शताब्दी के अंत में ओदन्तपुरी के समय में ‘ बौद्ध विहारों , की बहुसंख्या के कारण क्षेत्र का नाम ‘ विहार पड़ा ‘ जो कालान्तर में ‘ बिहार ‘ नाम से प्रचलित हो गया । भगवान बुद्ध , 24 जैन तीर्थंकरों , ऋषि – मुनियों तथा अनेकानेक प्रमुख व्यक्तियों की कर्मभूमि और जन्मभूमि के लिए महत्वपूर्ण है ।

भौगोलिक स्थिति

बिहार 24 ° 20’10 ” उत्तरी अक्षांश से 27 ° 31”15 ” उत्तरी अक्षांश तथा 83 ° 19’50 ” पूर्वी देशान्तर से 88 ° 177 40 ” पूर्वी देशान्तर तक स्थित है ।

उत्तर से दक्षिण लम्बाई 362 किलोमीटर और पूर्व से पश्चिम चौड़ाई 483 किलोमीटर

सीमा : उत्तर में नेपाल , दक्षिण में झारखण्ड , पूर्व में पश्चिम बंगाल व पश्चिम में उत्तर प्रदेश ।

भूआकृति बिहार गंगा एवं सहायक नदियों का मैदान है । यहाँ की जमीन बहुत उपजाऊ है , जिसमें सरयू , गंडक और गंगा आदि नदियाँ बहती हैं ।

 

बिहार के बारे में जानकारी चाहिए
बिहार का नक्शा

 

बिहार के बारे में जानकारी चाहिए

  • वर्तमान स्वरूप : वर्ष 1956 में सीमाओं में परिवर्तन ।
  • वर्तमान बिहार को 15 नवम्बर , 2000 को विभाजन करके ।
  • जनसंख्या ( जनसंख्या की दृष्टि से देश में तीसरा स्थान ) ( 2011 की जनगणनानुसार )
  • .पुरुष = 542,78,157
  • महिला  = 4,98,21,295
  • दशकीय वृद्धि दर = ( 2001-2011 ) -25.4%
  • 0-6 आयु वर्ग की जनसंख्या  = 191,33,964
  • बालक = 98,87,239
  • बालिका =  92,46,725
  • लिंगानुपात =  ( 0-6 वर्ष ) 935 .
  • साक्षरता  = 61.8 प्रतिशत ( 2011 )
  • पुरुष = 71.2 प्रतिशत
  • महिला  = 51.5 प्रतिशत
  • कुल साक्षर व्यक्ति  = 5,25,04,553
  • पुरुष साक्षर  = 3,16,08,023
  • महिला साक्षर  = 2,08,96,530
  • लिंगानुपात =  918 प्रति हजार
  • जनसंख्या घनत्व  = 1106 व्यक्ति प्रति वर्ग किमी .
  • कला एवं संस्कृति  = मधुबनी चित्रकला शैली , पटना चित्रकला शैली .
  • राजभाषा  = हिन्दी
  • अन्य भाषाएँ – उर्दू , मैथिली , मगधी एवं भोजपुरी आदि ।
  • उच्च न्यायालय  = पटना .
  • प्रमण्डल  = 9
  • जिले  = 38
  • अनुमण्डल  = 101
  • प्रखंडों ( Blocks ) की संख्या  = 534
  • गाव  =  44874
  • शहरों की संख्या  = 139
  • विधानमण्डल द्विसदनात्मक ( विधान सभा तथा विधान परिषद् ) ।
  • विधान सभा सदस्यों की संख्या  = 243
  • विधान परिषद् सदस्यों की संख्या  = 75
  • लोक सभा सदस्यों की संख्या  = 40
  • राज्य सभा के सदस्यों की संख्या  = 16
  • प्रमुख नगर पटना , मुजफ्फरपुर , भागलपुर , बरौनी , कटिहार , ‘ पूर्णिया , मधुबनी , दरभंगा , समस्तीपुर , छपरा , सिवान , गोपालगंज ।
  • राजकीय पशु  = बैल ( Ox )
  • राजकीय पक्षी  = घरेलू गौरैया ( House Sparrow )
  • राजकीय वृक्ष  = पीपल ( Peepal )
  • राजकीय पुष्प  = कचनार ( Kachnar )

 

बिहार की प्राचीन इतिहास

सारण जिले के चिरांद स्थित जगह पर नवपाषाण युग ( 25OO – 1345 ) के पुरातात्विक स्रोत मिले हैं बिहार के क्षेत्र जैसे मगध मिथिला और अंग का उल्लेख प्राचीन महाकाव्य ग्रंथ मे मिलता है ‘

विदेह साम्राज्य की स्थापना के बाद मिथिला प्रसिद्ध हुआ (1100-500 ईसा पूर्व ) के दौरान कुरु ,विदेह और पंचाल के साथ एशिया के प्रमुख राजनीतिक और सांस्कृतिक केंद्रों में से एक बन गया | विदेह साम्राज्य के राजाओं को जनक कहा जाता था |

महर्षि बाल्मीकि द्वारा लिखें महाकाव्य रामायण में मिथिला के राजा जनक की बेटी सीता का उल्लेख भगवान राम की पत्नी के रूप में किया गया है.

विदेश साम्राज्य के बाद में वज्जी संघ  में शामिल हो गया जिसकी राजधानी वैशाली बनाई गई | वैशाली दुनिया का पहला गणतंत्र स्वरूप था जहां राजा जनता द्वारा चुने जाते थे | जैन धर्म और बौद्ध धर्म से संबंधित सभी ग्रंथों में मिली जानकारी के आधार पर 563 ईसा पूर्व गौतम बुद्ध के जन्म से पहले छठी शताब्दी ईसा पूर्व तक वज्जि को एक गणतंत्र के रूप में स्थापित किया गया था | जिससे यह भारत में पहला गणतंत्र गणराज्य बना .

684 ईसा पूर्व में स्थापित हर्यक को वंश के राजाओं ने राजगृह आधुनिक राजगीर नामक शहर से मगध पर शासन किया | इस राजवंश के प्रमुख दो   राजाओ  बिंबिसार और उसके पुत्र अजातशत्रु थे जिन्होंने गद्दी पर बैठने के लिए अपने पिता को हत्या कर दी थी | अजातशत्रु ने पाटलिपुत्र शहर की स्थापना की जो बाद में मगध की राजधानी बनी |

हर्यक वंश के बाद शिशुनाग वंश का उद्भव हुआ और बाद में नंद वंश ने मगध को एक विस्तार रूप दिया | इसके बाद मौर्य साम्राज्य जो 325 ईसा पूर्व पहले मगध में शुरू हुआ | उसकी स्थापना चंद्रगुप्त मौर्य ने की थी इसकी राजधानी पाटलिपुत्र (आधुनिक पटना ) बनाया गया . मौर्य सम्राट में प्रसिद्ध राजा अशोक को विश्व इतिहास के सबसे कुशल शासकों में एक माना जाता है |

240 ईसवी में उत्पन्न हुए गुप्त साम्राज्य को गणित ,विज्ञान ,खगोल, विज्ञान ,धर्म, भारतीय दर्शन में भारत के स्वर्ण युग के रूप में जाना जाता है |

इसे भी पढ़े :      अकबर के नवरत्न कौन था ?

 

मध्यकालीन बिहार

बख्तियार खिलजी के आक्रमण से मगध में बौद्ध धर्म का विनाश हो गया जिससे नालंदा और विक्रमशिला विश्वविद्यालय के साथ कई अन्य विहार नष्ट हो गए | कुछ इतिहासकार मानते हैं की 12वी शताब्दी के दौरान हजारों बौद्ध भिक्षुओं की हत्या कर दी गई |

16 वीं शताब्दी में मुगल शासकों ने बिहार के कुछ हिस्सों पर शासन किया . उसके बाद 1540 में शेरशाह सूरी ने उत्तर भारत से मुगलों को  खदेड़ दिया और दिल्ली को अपनी राजधानी घोषित कर दिया |

सिख धर्म के दसवें और अंतिम गुरु  गोविंद सिंह का जन्म पटना में 1666 में हुआ था | औरंगजेब की मृत्यु के बाद मुगल साम्राज्य में विभाजन होने के कारण मुगल सत्ता पूरी तरह से नष्ट हो गई

 

औपनिवेशिक युग

बक्सर के युद्ध के बाद ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी बिहार ,बंगाल एवं उड़ीसा को अपने अधिकार में लेकर इस राज्य से कर वसूलना शुरू कर दिया जिससे बिहार गरीबी के दलदल में घस गया और 1912 तक बिहार ब्रिटिश भारत के बंगाल प्रेसिडेंसी का हिस्सा बना रहा |  इसके बाद बिहार और उड़ीसा को एक अलग प्रांत के रूप में बांट दिया गया |

 

 बिहार की कृषि

भारत में बिहार सब्जियों का चौथा सबसे बड़ा उत्पादक और फलों का आठवां सबसे बड़ा उत्पादक राज्य है  जो राष्ट्रीय औसत से कहीं ज्यादा ऊपर है|  अगर मुख्य कृषि की बात करें : तो यहां पर लीची ,अमरूद, आम, चावल, गेहूं, गना और सूरजमुखी की खेती बड़े पैमाने पर होती है यहां की अच्छी मीठी और अनुकूल जलवायु के वजह से कृषि पर लोग निर्भर रहते हैं

बिहार एक कृषि प्रधान राज्य है । यहाँ की 85 % जनसंख्या कृषि पर निर्भर है । यहाँ की 80 प्रतिशत से अधिक कृषि योग्य भूमि पर खाद्यान्न पैदा होता है । यहाँ की प्रमुख फसलें है- गेहूँ , चावल , मक्का , दलहन , गन्ना , तिलहन , तम्बाकू , जूट एवं आलू

  1. रबी की फसल ( जाड़े ऋतु की फसल ) बुआई समय – अक्टूबर / नवम्बर फसल गेहूँ , जौ , सरसों , मटर , चना , आलू ।
  2. खरीफ की फसल ( वर्षा ऋतु की फसल ) । बुआई समय जून / जुलाई फसल धान , गन्ना , ज्वार , बाजरा , मक्का , अरहर ।
  3. जायद की फसल ( गर्मी की फसल ) बुआई समय – फसल मई / जून मकई , ज्वार , जूट ।

गेहूँ . मक्का • चावल- पूर्णिया , मुंगेर , गया , भागलपुर , – गया , मुजफ्फरपुर , सारण , मुंगेर , चम्पारण , सहरसा , पूर्णिया । भोजपुर , सहरसा , सारण , दरभंगा , मुजफ्फरपुर , भागलपुर एवं पटना । मुंगेर , भोजपुर , चम्पारणा .

  • बाजरा – मुंगेर , पटना , भोजपुर , गया ।
  • रागी – सारण , गया , दरभगा , मुजफ्फरपुर ।
  • जौ – चम्पारण , दरभंगा , पूर्णिया , मुंगेर , सहरसा , सारण , मुजफ्फरपुर , गया , भागलपुर ।
  •  चना – गया , भागलपुर , पटना , भोजपुर , मुंगेर ।
  • जूट – सहरसा , पूर्णिया , दरभंगा , कटिहार , मुजफ्फरपुर ।

 

प्रमुख बाँध

चन्दन जलाशय स्थापना 1968 नदी चन्दन जिला बांका

बदुआ जलाशय स्थापना 1965 नदी – बदुआ जिला बांका

 

भाषाएँ क्षेत्र

भोजपुरी :  भोजपुर , बक्सर , चम्पारण , सारण , सीवान , गोपालगंज , रोहतास , कैमूर ।

मगही : पटना , गया , औरंगाबाद , नवादा , जहानाबाद , नालन्दा , शेखपुरा ।

मैथली : दरभंगा , मधुबनी , सहरसा , सुपौल ।

 

 प्रमुख झरने व जलकुण्ड

सप्तधारा , ब्रह्म कुण्ड , सूर्य कुण्ड , मानक कुण्ड , मखदूम कुण्ड , राजगीर में स्थित हैं ।

गोमुख कुण्ड , लक्ष्मण कुण्ड , सीता कुण्ड , रामेश्वर कुण्ड , ऋषिकुण्ड , भीम बाँध , शृंगाऋषि , भरारी , जन्म कुण्ड , पंचतर कुण्ड मुंगेर जिले में स्थित हैं ।

बिहार के जलप्रपात रोहतास , गया , नवादा जिले में हैं ।

बिहार का प्रमुख जलप्रपात ककोलत नवादा जिले में है ।

 

नदियों पर निर्मित सड़क व रेल पुल

महात्मा गांधी सेतु गंगा नदी ( पटना ) सड़क मार्ग .

राजेन्द्र पुल गंगा नदी ( मोकामा ) रेल व सड़क मार्ग .

सोन पुल सोन नदी ( डेहरी ) रेल व सड़क मार्ग

अब्दुल बारी पुल सोन नदी ( कोइलवर ) रेल व सड़क मार्ग बगहा –

छितौनी पुल गण्डक नदी ( बगहा ) रेल व सड़क मार्ग

 

पेंटिंग

मिथिला के चित्र कला को मधुबनी कला भी कहते हैं इस कला में ज्यादातर मनुष्य और प्रकृति के साथ संबंधों को दिखाया जाता है | अक्सर देवताओं और देवियों तथा प्राचीन महाकाव्य एवं पीपल जैसे धार्मिक पेड़ो की दृश्य को चित्रित करते हैं |

पटना स्कूल ऑफ पेंटिंग जिसे कंपनी पेंटिंग कहा जाता है इस चित्रकला में कागज और अभ्रक पर जल रंगों का प्रयोग किया जाता था  17 वी से 19 वी सदी के बीच फला फूला लोग इस कला को सीखते और अभ्यास करते थे मुगल सम्राट औरंगजेब के उत्पीड़न के वजह से इन कारीगरों ने 18 वीं सदी के अंत तक मुर्शिदाबाद में शरण ले ली |

 

 बिहार की शिक्षा

ऐतिहासिक तौर पर अगर देखें तो बिहार शिक्षक का एक प्रमुख केंद्र रहा है | नालंदा और विक्रमशिला विश्वविद्यालय जैसे अनेक प्राचीन पाठशाला बिहार को शिक्षा का प्रदर्शन करता है बाद में बख्तियार खिलजी द्वारा नालंदा विश्वविद्यालय को नष्ट कर दिया गया |

 

अर्थव्यवस्था

बरौनी पेट्रोलियम तेल रिफाइनरी जिसका वित्तीय वर्ष 2013-14 के लिए सकल घरेलू उत्पाद ( GDP ) का लगभग 3683.57 बिलियन था | बिहार जीडीपी के मामलों में सबसे तेजी से उभरती हुई राज्य अर्थव्यवस्था है | वित्तीय वर्ष 2014-15 में बिहार में 17.06% वृद्धि दर था | बिहार में प्रति व्यक्ति राज्य घरेलू उत्पाद में मजबूती के साथ अनुभव प्राप्त किया है | वित्तीय वर्ष 2014-15 में बिहार के प्रति व्यक्ति आय में 40.6% की वृद्धि हुई है |

इसे भी पढ़े :  मुगल साम्राज्य के बारे में 

 

बिहार में पर्यटक स्थल

  • पटना • हरमन्दर साहिब : विशाल गुरुद्वारा . गोलघर : विशाल अन्नागार • खुदाबख्श खाँ का पुस्तकालय : अरबी औ फारसी की बहुमूल्य पुस्तकों का संग्रह
  • सात शहीदों की समाधि ।
  • राजगीर
  • बौध गया
  • वास्तुकला का सम्मिश्रण पुत्र शाहजादा द्वारा स्थापित  पशु मेला ।
  • बरारी गुफा
  • पादरी की हवेली
  • प्राचीन रोमन कैथोलिक चर्च पटना
  • संग्रहालय मुगल व राजपूत वास्तुकला
  • सदाकत आश्रम
  • भारत के प्रथम राष्ट्रपति डॉ .राजेन्द्र प्रसाद का निवास स्थान
  • सैफ खाँ की मस्जिद मस्जिद जहाँगीर के
  • सोनपुर का मेला : विश्व का सबसे बड़ा मेला

 

बिहार की राजनीति

बिहार बूरे ,व्यापक ,अपरिहार्य ,गरीबी के लिए एवं भ्रष्ट नेताओं के कारण एक अपशब्द बन गया है यहां पर जाति आधारित सामाजिक व्यवस्था है जो बिहार के लिए निन्दनिए है |

बिहार के वर्तमान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार लगातार 2005 से 2020 के बीच 13 वर्षों तक बिहार के मुख्यमंत्री रहे हैं | पिछली सरकार जो जाती और धर्म के विभाजन पर जोर देती थी इस सरकार में आर्थिक राजनीतिक अपराध और भ्रष्टाचार में कमी देखने को जरूर मिली है | 2010 के बाद सरकार ने भ्रष्ट अधिकारियों की संपत्ति को जप्त किया एवं उन्हें स्कूलों कॉलेजों पर उन पैसों को खर्च किया | कुछ सालों बाद सरकार ने 2016 से राज्य में शराब बिक्री और खपत पर रोक लगा दी है जिससे बिहार की कुछ आर्थिक स्थिति कमजोर रही है |

 

बिहार में प्रथम

प्रथम राज्यपाल : जयराम दास दौलत राम

प्रथम मुख्यमंत्री : श्रीकृष्ण सिंह ( 1946-61 )

सर्वाधिक कालावधि वाले मुख्यमंत्री श्रीकृष्ण सिंह

सबसे कम कालावधि वाले मुख्यमंत्री सतीश कुमार सिंह

प्रथम हरिजन मुख्यमंत्री : भोला पासवान शास्त्री

प्रथम मुस्लिम मुख्यमंत्री : अब्दुल गफूर त ( 1973-75 )

प्रथम महिला मुख्यमंत्री : राबड़ी देवी

प्रथम मुस्लिम राज्यपाल : डॉ . जाकिर हुसैन ( 1957-62 )

अशोक चक्र प्राप्त करने वाला प्रथम व्यक्ति : स्व . रणधीर वर्मा

बिहार के प्रथम महाकवि : विद्यापति

बिहार के बारे में जानकारी चाहिए

बिहार का सबसे बड़ा जिला ( जनसंख्या ) : पटना

बिहार का सबसे छोटा जिला ( क्षेत्रफल ) : शेखपुरा

सबसे कम जनसंख्या वाला जिला : शेखपुरा

जनसंख्या घनत्व की दृष्टि से सबसे आगे : . शिवहर ( 1,880 ) .

न्यूनतम जनसंख्या घनत्व वाला जिला : कैमूर ( भभुआ ) ( 488 )

सर्वाधिक लिंगानुपात वाला जिला : गोपालगंज ( 1,021 )

सबसे कम लिंगानुपात वाला जिला : मुंगेर ( 876 )

सर्वाधिक क्षेत्रफल वाला जिला : पश्चिमी चम्पारण .

सर्वाधिक साक्षरता दर वाला जिला : रोहतास ( 73.37 % )

न्यूनतम साक्षरता दर वाला जिला : पूर्णिया ( 51.08 %

बिहार का प्रथम खुला विश्वविद्यालय : नालंदा विश्वविद्यालय

बिहार का प्रथम मेडिकल कॉलेज अस्पताल : पटना मेडिकल कॉलेज ( सन् 1925 )

बिहार की सबसे बड़ी परियोजना : गंडक परियोजना

बिहार का प्रथम दूरदर्शन प्रसारण केन्द्र : मुजफ्फरपुर ( 1978 )

बिहार की प्रथम भोजपुरी फिल्म : हे गंगा मैया तोहे पियरी चढेबो

बिहार की प्रथम हिन्दी फिल्म : कल हमारा है ( निर्देशक : गिरीश रंजन )

बिहार का सर्वाधिक गंधक उत्पादक : रोहतास

ज्ञानपीठ पुरस्कार प्राप्त करने वाला प्रथम बिहारी : डॉ . रामधारी सिंह ‘ दिनकर ‘

 

भारत में प्रथम ( बिहार के संदर्भ में )

दिल्ली की गद्दी पर बैठने वाला प्रथम बिहारी : शेरशाह ( 1540 )

बिहार पर सर्वप्रथम विजय पाने वाला प्रथम मुस्लिम आक्रांता : बख्तियार खिलजी

सबसे पहले प्राप्त नवपाषाण युगीन अवशेष चीराद ( छपरा )

भारत के प्रथम राष्ट्रपति : डॉ . राजेन्द्र प्रसाद

संविधान सभा के प्रथम ( स्थायी ) अध्यक्ष : डॉ . राजेन्द्र प्रसाद

संविधान सभा के प्रथम ( अस्थायी ) अध्यक्ष : डॉ . सच्चिदानंद सिन्हा

ब्रिटिश काल में प्रथम भारतीय राज्यपाल : एस.पी. सिन्हा ( 1921 )

भारत का प्रथम गणितज्ञ : आर्यभट्ट

पहला लिखित अभिलेखगत साक्ष्य : बिहार ( अशोककालीन )

अखिल भारतीय किसान सभा का प्रथम अध्यक्ष : स्वामी सहजानंद सरस्वती ( लखनऊ 1936 )

भारत का सबसे बड़ा रेलवे पुल : अब्दुल . बारी पुल , कोईलवर , सोन नदी

भारत का सबसे लम्बा सड़क पुल : गांधी सेतु , पटना

भारत का सबसे बड़ा पशु मेला : सोनपुर मेला ,

बिहार ० महात्मा गांधी का प्रथम सत्याग्रह : चम्पारण ( बिहार ) , 1917 ई.

 

 

comment here