राष्ट्रीय राजमार्ग

आज के इस आर्टिकल में राष्ट्रीय राजमार्ग के बारे में पूरी बिस्तार से जानेंगे साथ ही इससे सम्बंधित सभी महत्वपूर्ण बाते जानेगे . तो आप आर्टिकल को पूरा पढ़े |

राष्ट्रीय राजमार्ग कहाँ से कहाँ तक जाती है |

 राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या -1   = यह दिल्ली से सुरू होकर  – पाकिस्तान की  सीमा तक जाती है इसकी लम्बाई 1226 की.मी. है

राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या -2   = यह राज्य मार्ग दिल्ली से होते हुए – कोलकाता तक जाती है जिसकी लम्बाई 1490 की मी है |

राष्ट्रीय राज मार्ग संख्या -3   = यह राज्यमार्ग आगरा से सुरू होकर – मुम्बई तक जाती है इसकी लम्बाई 1161 कि मी है |

 राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या -4  = इस राज्य मार्ग की लम्बाई 1415 किलो मीटर है जो मुम्बई होते हुए – चेन्नई को जाती है

राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या -5   -= इस राज्यमार्ग की लम्बाई 1610 की मी है जो  कोलकाता से  चेन्नई को जाती है |

राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या -6   = यह राज्यमार्ग कोलकाता से होते हुए – मुम्बई की जाती है जिसका लम्बाई 1945 कि मी जाती है |

राष्ट्रीय राज मार्ग संख्या -7  = वाराणसी – कन्याकुमारी तक जाती है लम्बाई 2369 कि मी है

राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या -8   =  दिल्ली – जयपुर – मुम्बई तक जाती है जिसका लम्बाई 2058 कि मी है |

 

राष्ट्रीय राजमार्ग बारे में 

भारत का सबसे लम्बा राष्ट्रीय राजमार्ग -7 है । जो उत्तर प्रदेश में 128 किमी , मध्य प्रदेश में 504 किमी , महाराष्ट्र में 232 किमी  , आन्ध्रप्रदेश में 753 किमी , कर्नाटक में 125 किमी ,तमिलनाडु में 627 किमी ( कुल 2,369 किमी ) लम्बी है ।

राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 1 और 2 सम्मिलित रूप से ग्रांड ट्रंक रोड ( G. T. Road ) कहा जाता है ।

राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 1A में जवाहर सुरंग स्थित है ।  राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 1A लेह को जोजीला दर्रा होते हुए कश्मीर घाटी से जोड़ता है । यह राजमार्ग जालंधर से जम्मू एवं श्रीनगर होते हुए उड़ी तक जाती है ।

जम्मू और श्रीनगर को जोड़ने वाले बनिहाल दरे में ही जवाहर सुरंग स्थित है ।

भारत का सबसे छोटा राष्ट्रीय राज मार्ग 47 – A है , जिसकी लम्बाई मात्र 6 किमी . है । यह केरल के बेम्बानद झील में स्थित वेलिंगटन द्वीप में है ।

राष्ट्रीय राज मार्ग -15 राजस्थान के मरुस्थल से होकर गुजरता है ।

स्वर्णिम चतुर्भुज योजना के अन्तर्गत 5846 किमी लम्बे राष्ट्रीय राजमार्ग द्वारा चार महानगरों दिल्ली , मुम्बई , चेन्नई एवं कोलकाता को जोड़ा जायेगा ।

राष्ट्रीय राज मार्ग विकास कार्यक्रम के अन्तर्गत बनने वाली उत्तर – दक्षिण गलियारा से श्रीनगर को कन्याकुमारी से तथा पूर्व – पश्चिम गलियारा से सिलचर को पोरबंदर से जोड़ जायेगा ।  इसकी कुल लंबाई , 7,522 किमी है ।

 

 राज्य राजमार्ग

इसका निर्माण एवं रख – रखाव की जिम्मेदारी राज्य सरकार की होती है । राज्यों के राजमार्ग की लम्बाई वर्तमान में 142,687 किलोमीटर है ।

‘ भारत में सड़कों की सर्वाधिक लम्बाई महाराष्ट्र में है । दूसरे एवं तीसरे स्थान पर क्रमश : उत्तर प्रदेश एवं ओडिशा है । सड़कों की न्यूनतम लंबाई सिक्किम में है ।

भारत में सड़कों का सर्वाधिक घनत्व केरल ( 5,268.69 किमी . प्रति 1000 वर्ग किमी क्षेत्रफल ) में तथा सबसे कम जम्मू – कश्मीर में है ।

केन्द्र शासित प्रदेशों में सर्वाधिक सड़क घनत्व दिल्ली ( 19931.89 किमी प्रति 1000 वर्ग किमी क्षेत्रफल ) । ( दूसरा स्थान चंडीगढ़ )

इसे भी पढ़े :     वायुमंडल किसे कहते हैं

सड़क निर्माण क्षेत्र में निजी भागीदारी को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने ” बनाओ , चलाओ और हस्तांतरित करो ” ( B.O.T. ) की नीति अपनाई । माल परिवहन का लगभग 65 % और यात्री परिवहन का 80.4 % सड़कों से ही होता है ।

प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अन्तर्गत 500 की आबादी वाले सभी गाँवों को बारहमासी सड़कों से जोड़ना है ।

 

 ★ भारत का सड़क जाल ( 2016 )

सड़क वर्ग

 

 लंबाई ( किमी )कुल सड़क लं . का प्रतिशत

 

एक्सप्रेस वे200 .

 

0.006 
राष्ट्रीय राजमार्ग96260.722.88

 

राज्य राजमार्ग131899

 

3.94
मुख्य जिला सड़कें467763

 

13.98
ग्रामीण एवं अन्य2650000

 

79.2
सड़कें कुल3346122 ( लगभग )100

 

 

 

 

विश्व का सबसे ऊँचा सड़क मार्ग लेह – श्रीनगर मार्ग है , जो कराकोरम दर्रे को पार करता है । इसकी ऊँचाई लगभग 3,450 मी है ।

इसे भी पढ़े :  सैमसंग किस देश की कंपनी है

2006 में इसे राष्ट्रीय राज मार्ग -1 D ( NH ID ) घोषित किया गया ।  एशिया का सबसे बड़ा रोप वे ( रज्जुमार्ग ) गढ़वाल में जोशीमठ एवं ऑली को जोड़ता है , जिसकी लम्बाई 500 मी  है ।

 

comment here