Bharat mein kitne rajya hain

आज के इस आर्टिकल में पुरे बिस्तार से जानेगे की Bharat mein kitne rajya hain एवं उससे सम्बंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारिया प्रदान की जाएगी. आप आर्टिकल को पूरा पढ़े |

 

 Bharat mein kitne rajya hain

भारत 28 राज्यों और 8 केन्द्र शासित प्रदेशों का एक संघ है। सन् 2019 में, लगभग 1.15 अरब की जनसंख्या के साथ भारत विश्व का दूसरा सर्वाधिक जनसंख्या वाला देश है। भारत के पास विश्व की कुल भूक्षेत्र का 2.4% भाग है, लेकिन यह विश्व की 17% जनसंख्या का निवास स्थान है।

 

पछिम बंगाल ( कोलकता )

बंगाल पर इस्लाम का 13वीं शदी से शासन  प्रारम्भ हुआ और 13वीं शताब्दी में ही मुग़ल शासन में व्यापार तथा उद्योग का एक समृद्ध केन्द्र विकसित हुआ था ।

15वीं शदी के अन्त तक यहाँ यूरोप के व्यापारियों का आगमन हो चुका था एवं 18वीं शताब्दी के अन्त होते –होते तक यह क्षेत्र ब्रिटिश ईस्ट इण्डिया कम्पनी के नियन्त्रण में आ गया था।

  • कुल क्षेत्रफल  : 88752 किमी2 (34,267 वर्गमील)
  • कुल जनसँख्या :  9,13,47,736
  • जनसँख्या घनत्व : 1,029 किमी2

त्रिपुरा ( अगरतला )

त्रिपुरा उत्तर-पूर्वी की सीमा पर स्थित भारत का एक राज्य है।यह भारत का तीसरा सबसे छोटा राज्य है जिसका क्षेत्रफल 10,491 वर्ग किमी है। इसके  तीन तरफ से  बांग्लादेश स्थित है जबकि पूर्व में असम और मिजोरम स्थित हैं।

साल 2012 में इस राज्य की जनसंख्या लगभग 36 लाख 80 हजार थी।त्रिपुरा की राजधानी  अगरतला  है। बंगाली और त्रिपुरी भाषा (कोक बोरोक) यहाँ की मुख्य भाषायें हैं।

बिहार ( पटना )

बिहार की कुल जनसंख्या 10,40,99,452 व्यक्ति ( जनसंख्या के दृष्टि से देश में तीसरा स्थान ) 2011 की जनगणना के अनुसार |

नामकरण = 12 वीं शताब्दी के अंत में ओदन्तपुरी के समय में ‘ बौद्ध विहारों , की बहुसंख्या के कारण क्षेत्र का नाम ‘ विहार पड़ा ‘ जो कालान्तर में ‘ बिहार ‘ नाम से प्रचलित हो गया ।

महत्व = भगवान बुद्ध , 24 जैन तीर्थंकरों , ऋषि – मुनियों तथा अनेकानेक प्रमुख व्यक्तियों की कर्मभूमि और जन्मभूमि के लिए महत्वपूर्ण है ।

  • वर्तमान स्वरूप  = वर्ष 1956 में सीमाओं में परिवर्तन ।
  • वर्तमान बिहार विभाजन : 15 नवम्बर , 2000 को ।

तेलंगाना ( हैदराबाद )

तेलंगाना  भारत के आन्ध्र प्रदेश राज्य से अलग होकर बना भारत का 29वाँ राज्य है। हैदराबाद को दस साल के लिए तेलंगाना और आंध्र प्रदेश की संयुक्त राजधानी बनाया जाएगा। ‘तेलंगाना’ शब्द का अर्थ है – ‘तेलुगूभाषियों की भूमि‘।

  • जनसंख्या : 3,51,93,978
  • जनघनत्व : 306 /किमी²
  • क्षेत्रफल  : 1,14,840 किमी²

तमिलनाडु ( चेन्नई )

ब्रिटिश शासनकाल में यह प्रान्त मद्रास प्रेसिडेंसी का भाग था। स्वतन्त्रता के बाद मद्रास प्रेसिडेंसी को विभिन्न भागों में बाँट दिया गया, जिसका परिणाम मद्रास तथा अन्य राज्यों में हुई।

  • जनसंख्या :  72147030
  • जनसंख्या घनत्व :  555 /किमी²
  • क्षेत्रफल   : 130048 किमी²

सिक्किम ( गंगटोक )

सिक्किम’ लिम्बू भाषा के शब्दों सु   तथा ख्यिम  शब्द को जोड़कर बना है। तिब्बती भाषा में सिक्किम को “चावल की घाटी” कहा जाता है।

  • जनसंख्या :  6,10,577
  • जनसंख्या घनत्व :  86 /किमी²
  • क्षेत्रफल  : 7,096 किमी²
  • जिले :  4

ओड़िशा ( भुवनेश्वर )

ओड़िशा नाम की उत्पत्ति संस्कृत के ओड्र विषय या ओड्र देश से हुई है। ओडवंश के राजा ओड्र ने इसे बसाया था  | पाली और संस्कृत दोनों भाषाओं के साहित्य में ओड्र लोगों का उल्लेख क्रमशः ओद्दाक और ओड्र: के रूप में किया गया है। प्लिनी और टोलेमी जैसे यूनानी लेखकों ने ओड्र लोगों का वर्णन ओरेटस (Oretes) कह कर किया है।

  • जनसंख्या :  4,19,74,218
  • जनसंख्या घनत्व :  270 /किमी²
  • क्षेत्रफल   155,707 किमी²
  • ज़िले :  30

नागालैण्ड  ( कोहिमा )

नागालैण्ड   भारत का एक उत्तर पूर्वी राज्य है। इसकी राजधानी कोहिमा है, जबकि दीमापुर राज्य का सबसे बड़ा नगर है। नागालैण्ड की सीमा पश्चिम में असम से, उत्तर में अरुणाचल प्रदेश से, पूर्व मे बर्मा से और दक्षिण मे मणिपुर से मिलती है

  • जनसंख्या :  19,80,602
  • क्षेत्रफल :  16,579 किमी²
  • ज़िले :  12

हरियाणा ( चण्डीगढ़ )

इसकी स्थापना 1 नवम्बर 1966 को हुई। इसे भाषायी आधार पर पूर्वी पंजाब से नये राज्य के रूप में बनाया गया।   हरियाणा शब्द सर्वप्रथम 12वीं सदी में अपभ्रंश लेखक विबुध श्रीधर  ने उल्लिखीत किया था।

भारत का एक केन्द्र शासित प्रदेश है, जो दो भारतीय राज्यों, पंजाब और हरियाणा की राजधानी भी है। इसके नाम का अर्थ है चण्डी का किला। यह हिन्दू देवी दुर्गा के एक रूप चण्डिका या चण्डी के एक मंदिर के कारण पड़ा है।

  • जनसंख्या :  2,53,51,462
  • जनसंख्या  घनत्व :  573 /किमी²
  • क्षेत्रफल  : 44,212 किमी²
  • जिले  :  22

आंध्रप्रदेश ( विशाखपट्नम )

ब्राह्मण  और महाभारत जैसे संस्कृत महाकाव्यों में आन्ध्र शासन का उल्लेख किया गया था | भरत के नाट्यशास्त्र (ई.पू. पहली सदी) में भी “आन्ध्र” जाति का उल्लेख किया गया है।

  • जनसंख्या : 49,386,799
  • जनसंख्या  घनत्व :   308 /किमी²
  • क्षेत्रफल : 1,60,205 किमी²
  • ज़िले :  13

इसे भी पढ़े :  भारतीय चित्रकला के बारे में जाने 

गुजरात ( गाँधीनगर )

इसकी उत्तरी-पश्चिमी सीमा जो अन्तर्राष्ट्रीय सीमा भी है, पाकिस्तान से लगी है। राजस्थान और मध्य प्रदेश इसके क्रमशः उत्तर एवं उत्तर-पूर्व में स्थित राज्य हैं।

  • जनसंख्या :  6,04,39,692
  • जनसंख्या घनत्व :  308 /किमी²
  • क्षेत्रफल 1,96,024 किमी²
  • ज़िले :  33

कर्नाटक ( बेंगलुरु )

कर्नाटक शब्द का उद्गम कन्नड़ शब्द करु, अर्थात  ऊंची और नाडु अर्थात  क्षेत्र से आया है, जिसके संयोजन करुनाडु का पूरा अर्थ हुआ | काली भूमि या ऊंचा प्रदेश।

  • जनसंख्या :  6,10,95,297
  • जनसंख्या घनत्व  :   319 /किमी²
  • क्षेत्रफल :  1,91,791 किमी²
  • ज़िले  :  30

केरल  ( तिरुवनन्तपुरम

पौराणिक कथाओं के अनुसार परशुराम ने अपना परशु समुद्र में फेंका जिसकी वजह से उस आकार की भूमि समुद्र से बाहर निकली और केरल अस्तित्व में आया। यहां 10वीं सदी ईसा पूर्व से मानव बसाव के प्रमाण मिले हैं

  • जनसंख्या : 3,34,06,061
  • जनसंख्या- घनत्व :  860 /किमी²
  • क्षेत्रफल :  38,863 किमी²
  • जिले :  14

मिजोरम ( अइज़ोल )

1972 में केंद्रशासित प्रदेश बनने से पहले तक  मिजोरम असम का एक जिला था। 1891 में ब्रिटिश अधिकार में जाने के बाद कुछ वर्षो तक उत्तर का लुशाई पर्वतीय क्षेत्र असम के और आधा दक्षिणी भाग बंगाल के अधीन रहा |

  • जनसंख्या :  10,97,206
  • जनसंख्या- घनत्व :  52 /किमी²
  • क्षेत्रफल :  21,081 किमी²
  • जिले  :  8

मेघालय  ( शिलांग )

मेघालय का गठन असम राज्य के दो बड़े जिलों संयुक्त खासी हिल्स एवं जयन्तिया हिल्स को असम से अलग कर 21 जनवरी, 1972 को किया गया था। इसे पूर्ण राज्य का दर्जा देने से पूर्व 1970 में अर्ध-स्वायत्त दर्जा दिया गया था।

  • क्षेत्रफल 22,429 किमी2 (8,660 वर्गमील)
  • जनसंख्या (2016 )  3,212,000
  • जनसंख्या घनत्व  : 140 किमी2 (370 वर्गमील)
  • जिले :  11

मणिपुर  ( इम्फाल )

मणिपुर के पड़ोसी राज्य हैं: उत्तर में नागालैंड और दक्षिण में मिज़ोरम, पश्चिम में असम, और पूर्व में इसकी सीमा म्यांमार से मिलती है। इसका क्षेत्रफल 22,347 वर्ग कि.मी (8,628 वर्ग मील) है। यहाँ के मूल निवासी मीतई जनजाति के लोग हैं

  • जनसंख्या  : 28,55,794
  • जनसंख्याघनत्व : 129 /किमी²
  • क्षेत्रफल : 22,347 किमी²

महाराष्ट्र ( मुंबई )

भारत के दक्षिण मध्य में स्थित है। इसकी गिनती भारत के सबसे धनी एवं समृद्ध राज्यों में की जाती है। महाराष्ट्र शब्द संस्कृत का है जो दो शब्दों द्वारा मिलकर बना है महा तथा राष्ट्र इसका अर्थ होता है महान देश।

  • क्षेत्रफल  : 307713 किमी2 (1,18,809 वर्गमील)
  • जनसंख्या  :  (2011) 11,23,72,972
  • जनसंख्या घनत्व :  370 किमी2(950 वर्गमील)

छत्तीसगढ़ ( रायपुर )

महत्त्व  = यह आदिवासी जाति बाहुल्य राज्य है यह राज्य  खनिज एवं वन सम्पदा से सम्पन्न , क्षेत्रीय जनता की आशातीत अपेक्षाओं का प्रतीक है

नामकरण =  36 गढ़ों की संख्या के आधार पर ‘ छत्तीसगढ़ ‘ नामकरण , कलचुरि राजा चेदिवंशीय थे , उनका राज्य ‘ चेदिशगढ़ ‘ कहलाता था , जो कालान्तर में छत्तीसगढ़ हो गया ।

  • स्थापना तिथि = 1 नवम्बर , 2000 ( देश का 26 वाँ राज्य )
  • क्षेत्रफल : 1,35,192 वर्ग किमी
  • जनसंख्या : 2,55,45,198 व्यक्ति ( 2011 की जनगणना के अनुसार ) करोड़ ।

हिमाचल प्रदेश ( शिमला )

स्थिति  =  देश का उत्तरी सीमांत प्रदेश

भौगोलिक स्थिति =  अक्षांशीय एवं देशांतरीय विस्तार 32 .22 ‘ उत्तर से 33. 12 ‘ उत्तर तक

देशान्तरीय विस्तार =  75 ° 47 ‘ पूर्व से 79 ° 6 ‘ पूर्व तक ।

भौगोलिक सीमाएं – उत्तर में जम्मू – कश्मीर , दक्षिण में हरियाणा , दक्षिण – पूर्व में उत्तराखंड , उत्तर प्रदेश , दक्षिण- पश्चिम में पंजाब तथा पूर्व में तिब्बत ( चीन ) ।

  • क्षेत्रफल =  55,673 वर्ग किमी
  • जनसंख्या  =  68,64,602 व्यक्ति ( 2011 )
  • दशकीय वृद्धि दर =  ( 2001-2011 ) -12.9 %

इसे भी पढ़े :   संयुक्त राष्ट्र संघ के बारे में जानते  है

झारखण्ड ( राँची )

28 वें राज्य के रूप में आने की तिथि 15 नवम्बर , 2000

महत्त्व = अनुसूचित जनजाति ( आदिवासी ) बाहुल्य राज्य , खनिज सम्पदा का विपुल भण्डार , अनेकानेक खनिजों का एकाधिकार , एक उद्योग श्रृंखला का राज्य ।

नामकरण =  आदिवासी सभ्यता , पठारी क्षेत्र तथा झाड़ों की बाहुल्यता के कारण ‘ झारखण्ड ‘ नाम प्रचलित ।

  • जनसँख्या = 3,29,88,134 व्यक्ति
  • दशकीय वृद्धि = 22.4 %

मध्य प्रदेश ( भोपाल )

वर्तमान स्वरूप  31 अक्टूबर , 2000

स्थापना तिथि = 1 नवम्बर , 1956

नामकरण = देश के मध्य स्थित होने के कारण मध्य प्रदेश नामकरण ‘ हृदय प्रवेश ‘ नाम से भी सम्बोधित ।

स्थिति =   देश का सबसे मध्यवर्ती भाग भौगोलिक स्थिति 21 ° 6 ‘ उत्तरी अक्षांश से 26 ° 54 ‘ उत्तरी अक्षांश तक तथा 74 ° पूर्वी देशान्तर से 82 ° 47 ‘ पूर्वी देशान्तर ।

विस्तार-   लम्बाई- पूर्व से पश्चिम -870 किमी . , चौड़ाई – उत्तर से दक्षिण 605 किमी .। उत्तर में उत्तर प्रदेश , उत्तर – पूर्व एवं पूर्व में छत्तीसगढ़ , दक्षिण में महाराष्ट्र , पश्चिम में राजस्थान तथा गुजरात

राजस्थान ( जयपुर )

सीमावर्ती राज्य =  राज्य के उत्तर – पश्चिम भाग में स्थित उत्तर में पंजाब , उत्तर – पूर्व में हरियाणा , पूर्व में उत्तर प्रदेश , दक्षिण – पूर्व में मध्य प्रदेश , दक्षिण और दक्षिण – पश्चिम में गुजरात तथा पश्चिम में पाकिस्तान ।

  • विस्तार = लम्बाई पूर्व से पश्चिम 869 किमी . तथा चौड़ाई उत्तर से दक्षिण -826 किमी .।
  • क्षेत्रफल –  3,42,239 वर्ग किमी ( देश में प्रथम ) ।
  • दशकीय वृद्धि दर = ( 2001-2011 ) 21.3 प्रतिशत ।

पंजाब ( चंडीगढ़ )

ब्रिटिश भारत के विभाजन उपरांत 1947 में पंजाब राज्य को भारत और पाकिस्तान में दो भागों में बाँट दिया गया था। इसके साथ ही राज्य की पुरानी राजधानी लाहौर पाकिस्तान के भाग में चली गयी थी।

  • राज्य का क्षेत्रफल 50.362 वर्ग किलोमीटर है ।
  • इस राज्य की जनसंख्या =  2,77,43,338 है ।
  • साक्षरता = 75.8 % . पुरुष ( साक्षरता ) – 80.4 %  महिला ( साक्षरता ) -70.7 % .
  • जनसंख्या घनत्व – 551 व्यक्ति प्रति वर्ग मीटर
  • लिंगानुपात – 895 महिलाये
  • दशकीय जनसंख्या वृद्धि – 13.9 %

उत्तराखण्ड ( देहरादून ( अस्थायी ))

  • प्रस्तावित राजधानी  =  गैरसैंण
  • सीमाएँ =  उत्तर में तिब्बत ( चीन ) एवं हिमालय , दक्षिण में उत्तर प्रदेश , पश्चिम में हरियाणा एवं हिमाचल प्रदेश , पूर्व में नेपाल
  • भौगोलिक स्थिति  = 28 ° 43 ‘ से 31 ° 28 उत्तरी अक्षांश तथा 77 ° 32 ‘ से 81 ° पूर्वी देशान्तर के बीच ।
  • क्षेत्रफल  =  53,483 वर्ग किमी . किलोमीटर
  • जनसँख्या = 1,00,86,292 ( देश के राज्यों में २०वा स्थान )
  • साक्षरता दर = 78.8 प्रतिशत
  • दशकिये वृद्धि दर ( 2001 – 2011 ) के अनुशार 18.8 प्रतिशत

उत्तर प्रदेश ( लखनऊ )

  • प्रदेश का पूर्व नाम = संयुक्त प्रान्त ( यूनाइटेड -प्रॉविन्स )
  • सीमावर्ती राज्य =  उत्तर में उत्तराखण्ड और नेपाल , उत्तर – पश्चिम में हिमाचल प्रदेश , पूर्व में बिहार व झारखण्ड , पश्चिम में हरियाणा , दिल्ली व राजस्थान और दक्षिण में मध्य प्रदेश व छत्तीसगढ़ ।
  • क्षेत्रफल  = 2,40,928 वर्ग किमी
  • जनसंख्या  = 19,98,12,341 व्यक्ति ( 2011 की जनगणना के अनुसार )
  • दशकिये वृद्धि दर = ( 2001 – 2011 ) के अनुशार 20.2 प्रतिशत

इसे भी पढ़े :   वायुमंडल किसे कहते हैं

गोवा ( पंज्जी )

महाभारत में गोवा को  गोपराष्ट्र यानि गोपालकों के देश के रूप में उल्लेख  किया गया है। दक्षिण कोंकण  क्षेत्रो का उल्लेख गोवाराष्ट्र  के रूप में मिलता है।

संस्कृत के कुछ अन्य पुरानो के स्त्रोतों में गोवा को गोपकपुरी और गोपकपट्टन कहा गया है जिनका उल्लेख हरिवंशम और स्कंद पुराण में मिलता है।

गोवा पर पुर्तगालीयो ने लगभग 450 सालो तक  शासन किया | इस कारण यहाँ यूरोपीय संस्कृति का प्रभाव महसूस होता है।

  • जनसँख्या = 14,58,545
  • जनसँख्या घनत्व = 394 /किमी²
  • गठन  =  30 मई 1987

असम ( दिसपुर )

  • क्षेत्रफल =  78,438 वर्ग किलोमीटर
  • जनसंख्‍या=   3,11,69,272
  • ‘बिहू’ असम का मुख्‍य पर्व है
  • असम’ शब्‍द संस्‍कृत के ‘असोमा’ शब्‍द से बना है, जिसका अर्थ है अनुपम

अरुणाचल प्रदेश ( ईटानगर )

अरुणाचल प्रदेश भारत का एक उत्तर पूर्वी राज्य है। अरुणाचल का हिन्दी में मतलब होता है  “उगते सूर्य का पर्वत”

  • जनसंख्या = 13,83,727
  • जनसंख्या घनत्व  = 17 /किमी²
  • क्षेत्रफल =  83,743 किमी²
  • जिले  = 25

 

भारत में कुल 8 केन्द्रससित प्रदेश है |

जम्मू – कश्मीर ( श्रीनगर )

इस राज्य का पाकिस्तान अधिकृत भाग को लेकर क्षेत्रफल 2,22,236 वर्ग कि॰मी॰ एवं जो भारत में है उसका क्षेत्रफल 1,38,124 वर्ग कि॰मी॰ था।

भारतीय संविधान जम्मू – कश्मीर को अनुच्छेद 370 के अन्तर्गत विशेष दर्जा प्रदान करता है ।

भारतीय संविधान का अनुच्छेद 1 , जम्मू और कश्मीर को भारतीय क्षेत्र के एक भाग के रूप में पन्द्रहवाँ राज्य निर्दिष्ट करता है ।

अनुच्छेद 370 के अनुसार , संघ और समवर्ती सूचियों में संसद की , राज्यों के लिए कानून बनाने की  शक्तिया उन मामलो में सिमित होगी |

लद्दाख ( लेह )

केन्द्र शासित प्रदेश लद्दाख के अन्तर्गत पाक अधिकृत गिलगित बलतिस्तान ,चीन अधिकृत अक्साई चिन और शक्सगम घाटी का क्षेत्र भी शामिल है । इसके अलावा सन 1963 में पाकिस्तान द्वारा 5180 वर्ग किलोमीटर का शक्सगम घाटी क्षेत्र चीन को उपहार में दिया गया ,जो लद्दाख का हिस्सा है ।

  • क्षेत्रफल :  59146 किमी2 (22,836 वर्गमील)
  • जनसंख्या (2011) :  2,74,289

चंडीगढ़ ( चंडीगढ़ )

भारत का एक केन्द्र शासित प्रदेश है, जो दो भारतीय राज्यों, पंजाब और हरियाणा की राजधानी भी है। इसके नाम का अर्थ है चण्डी का किला। यह हिन्दू देवी दुर्गा के एक रूप चण्डिका या चण्डी के एक मंदिर के कारण पड़ा है।

  • जनसंख्या :  2,53,51,462
  • जनसंख्या  घनत्व :  573 /किमी²
  • क्षेत्रफल  : 44,212 किमी²
  • जिले  :  22

दादरा और नगर हवेली ( सिलवास )

दादरा और नगर हवेली प्रमुख रूप से ग्रामीण क्षेत्र है जिसमे 62% से अधिक आदिवासी रहते है। संघ राज्य क्षेत्र 40 प्रतिशत हिस्सा आरक्षित वनों से घिरा है जो नाना प्रकार के वनस्पति और पशु को निवास प्रदान करते है।

  • जनसंख्या3,43,709
  • क्षेत्रफल :  491 किमी²

अंडमान निकोबार ( पोर्ट ब्लेयर )

भारत का यह केन्द्र शासित प्रदेश हिंद महासागर में स्थित है और भौगोलिक दृष्टि से दक्षिण पूर्व एशिया का हिस्सा है। यह इंडोनेशिया के  उत्तर में 150 किमी पर स्थित है तथा अंडमान सागर इसे थाईलैंड और म्यांमार से अलग करता है।

  • जनसंख्या :  434192
  • क्षेत्रफल :  8,249 किमी²
  • ज़िले   :  3

लक्षद्वीप ( कवरत्ती

लक्षद्वीप  भारत के दक्षिण-पश्चिमी तट से 200 से 440 किमी (120 से 270 मील) दूर लक्षद्वीप सागर में स्थित एक द्वीपसमूह है।

  • क्षेत्रफल :  32.62 किमी2
  • जनसंख्या :  (2021 जनगणना 70,365

पुदुच्चेरी ( पांडिचेरी  )

पहले पुदुच्चेरी एक फ्रांसीसी उपनिवेश था जिसमे 4 पृथक जिलों का समावेश था। पुदुच्चेरी का नाम पॉन्डिचरी इसके सबसे बड़े जिले पुदुच्चेरी के नाम पर पड़ा था।

  • जनसंख्या :  12,47,953
  • क्षेत्रफल :  492 किमी²

दिल्ली ( नई दिल्ली )

  • क्षेत्रफल –1,483 वर्ग कि.मी.
  • सीमाएँ = उत्तर , पश्चिम तथा दक्षिण में हरियाणा एवं पूर्व में उत्तर प्रदेश
  • जनसंख्या = 1,67,87,941
  • जनसंख्या घनत्व = 11,320 व्यक्ति प्रति वर्ग कि ० मी ०
  • जनसंख्या वृद्धि दर =  ( 2001-2011 ) 21.2 प्रतिशत
  • लिंगानुपात = 868 महिलाएँ प्रति हजार पुरुष
  • साक्षरता दर = 86.2 प्रतिशत

 

वर्ष 1950 के बाद जोड़े गए नए राज्य एवं परिवर्तित नाम

आंध्र प्रदेश

राज्य पुनर्गठन अधिनियम 1953 द्वारा सर्वप्रथम राज्य के कुछ क्षेत्रों को मद्रास स्टेट से अलग करके आंध्र स्टेट बनाया गया तथा बाद में राज्य पुनर्गठन अधिनियम 1956 द्वारा संयुक्त तेलुगू भाषी आंध्र प्रदेश में रखा गया और इसे आंध्र प्रदेश नाम दिया गया ।

केरल

राज्य पुनर्गठन अधिनियम 1956 द्वारा ट्रावनकोर – कोचीन के स्थान पर केरल राज्य बनाया गया ।

कर्नाटक 

राज्य पुनर्गठन अधिनियम 1956 द्वारा मैसूर राज्य बनाया गया जिसका नाम ‘ मैसूर राज्य ‘ ( नाम परिवर्तित ) अधिनियम द्वारा कर्नाटक रखा गया ।

गुजरात और महाराष्ट्र

मुम्बई पुनर्गठन अधिनियम 1960 द्वारा मुम्बई राज्य को गुजरात और महाराष्ट्र में विभाजित किया गया ।

नगालैण्ड

असम राज्य से नगा हिल्स त्युएन्सांग क्षेत्र को निकाल कर नगालैण्ड राज्य अधिनियम 1962 द्वारा नगालैण्ड पृथक् – राज्य बनाया गया ।

हरियाणा

पंजाब पुनर्गठन अधिनियम 1966 द्वारा पंजाब का एक भाग काटकर हरियाणा राज्य ( 17 वाँ राज्य ) गठित किया गया ।

तमिलनाडु

मद्रास राज्य ( नाम परिवर्तन ) अधिनियम , 1968 द्वारा मद्रास का नाम परिवर्तित होकर तमिलनाडु हो गया ।

हिमाचल प्रदेश

सबसे पहले राज्य का दर्जा दिया जाने वाला संघ राज्य क्षेत्र है हिमाचल प्रदेश । ( 18 वाँ राज्य ) जिसे हिमाचल प्रदेश अधिनियम 1970 द्वारा राज्य का दर्जा दिया गया ।

मणिपुर और त्रिपुरा

मणिपुर और त्रिपुरा पूर्वोत्तर क्षेत्र ( पुनर्गठन ) अधिनियम 1971 द्वारा संघ राज्य क्षेत्र की स्थिति से राज्य बना दिया गया ।

मेघालय

पहले मेघालय असम के भीतर एक उपराज्य था । स्वायत्त राज्य 23 वें संशोधन अधिनियम 1969 द्वारा बनाया गया । बाद में पूर्वोत्तर क्षेत्र अधिनियम द्वारा इसे पूर्ण राज्य ( 21 वाँ राज्य ) का दर्जा दिया गया |

लक्षद्वीप

लक्कादीव , मिनिकोय और 7 अमीनदीवी द्वीप समूह का नाम , लक्कादीव , मिनीकोय और अमीनदीवी द्वीप समूह ( नाम परिवर्तन ) अधिनियम 1973 द्वारा ‘ लक्षद्वीप ‘ दिया गया ।  इसकी राजधानी कवारत्ती बनाई गई ।

सिक्किम 

35 वें संशोधन द्वारा संयुक्त का दर्जा और 36 वें संशोधन 1975 द्वारा 22 वें राज्य का दर्जा दिया गया ।

मिजोरम

मिजोरम राज्य अधिनियम 1986 द्वारा मिजोरम को 23 वें राज्य का दर्जा दिया गया ।

अरुणाचल प्रदेश

अरुणाचल प्रदेश अधिनियम 1986 द्वारा 24 वें राज्य का दर्जा दिया गया ।

इसे भी पढ़े :   भूकंप कैसे आता है

गोवा ( राजधानी – पणजी )

गोवा दमन दीव पुनर्गठन अधिनियम 1987 द्वारा गोवा को 25 वें राज्य का दर्जा तथा दमन एवं दीव ( राजधानी – दमन ) संघ राज्य क्षेत्र बनाया गया ।

उत्तराखंड , झारखंड और छत्तीसगढ़

उत्तर प्रदेश , बिहार और मध्य प्रदेश पुनर्गठन अधिनियम द्वारा उत्तराखंड , झारखंड एवं छत्तीसगढ़ राज्यों का गठन किया गया ( 2000 ) ।

आन्ध्र प्रदेश राज्य पुनर्गठन्द्र अधिनियम , 2014

तेलंगाना विधेयक के माध्यम से आन्ध्र प्रदेश को दो भागों आन्ध्र प्रदेश और तेलंगाना में विभाजित किया गया है ।

2 जून , 2014 को भारत का 29 वाँ राज्य तेलंगाना अस्तित्व में आया । जिसे आन्ध्र प्रदेश को विभाजित करके बनाया गया है

हैदराबाद 

राज्यपाल के अधीन व्यवस्था के अन्तर्गत दोनों राज्यों की संयुक्त राजधानी बनी रहेगी , जब तक आन्ध्र प्रदेश राज्य के लिए नई राजधानी गठित नहीं कर ली जाती ।

विधेयक में दोनों राज्यों के मध्य सीमा विभाजन , देयता , संसाधनों का वितरण साथ ही हैदराबाद की स्थिति आदि को स्पष्ट किया गया है ।

 

राज्यों के कब – कब बदले गए नाम

वर्षराज्य / केंद्र शासित प्रदेश
1950पूर्वी पंजाब से पंजाब ( बाद में हिमाचल , हरियाणा अलग हुए )
1950यूनाइटेड प्रोविंसस से उत्तर प्रदेश
1956हैदराबाद से आंध्र प्रदेश
1956त्रावणकोर – कोचिन से केरल
1959मध्य भारत से मध्य प्रदेश
1969मद्रास स्टेट से तमिलनाडु
1973मैसूर से कर्नाटक
1973लकादीव , मिनीकॉय और अमनदीवी द्वीप से लक्षद्वीप
2006पोंडीचेरी से पुडुचेरी
2007उत्तरांचल से उत्तराखंड
2011उड़ीसा से ओडिशा

 

comment here