डीएसपी का फुल फॉर्म(DSP ka full form) क्या होता है

बहुत लोग डीएसपी(DSP) के नाम तो जानते हैं, लेकिन डीएसपी का फुल फॉर्म (DSP ka full form) क्या होता है |इसके बारे में बहुत कम लोग ही जानते हैं | तो आज हम आपके लिए डीएसपी क्या है, डीएसपी कैसे बने और डीएसपी का फुल फॉर्म क्या होता है और इससे संबंधित अन्य जानकारी को भी जानेंगे आपसे अनुरोध है कि आप इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें :

डीएसपी का फुल फॉर्म(DSP ka full form) क्या होता है

पुलिस विभाग में डीएसपी का फुल फॉर्म(DSP ka full form) उप पुलिस अधीक्षक होता है | भारत में डीएसपी (DSP) पुलिस बल के भीतर एक रैंक का प्रतीक है | डीएसपी राज्य के जिले में एक पुलिस अधिकारी होता है जो राज्य पुलिस वालों का प्रतिनिधि है । डीएसपी अधिकारी का पदचिन्ह कंधे के पट्टा पर एक तारे के ऊपर एक राष्ट्रीय प्रतीक होता है ।

डीएसपी(DSP)की तैयारी कैसे करें

आप डीएसपी (DSP) दो तरीके से बन सकते हैं एक यूपीएससी(UPSC) परीक्षा को पास करके, दूसरा स्टेट पीसीएस परीक्षा को पास करके|

इन दोनों परीक्षा का पैटर्न लगभग एक समान ही रहता है लेकिन फर्क इतना है कि यूपीएससी में नेशनल लेवल पर प्रश्न पूछे जाते हैं | वही स्टेट पीसीएस में राज्य स्तर कि प्रश्न को पूछा जाता है|

डीएसपी(DSP) बनने के लिए आपको स्टेट पीसीएस या यूपीएससी(UPSC) द्वारा आयोजित पिछले 10 वर्षो का प्रश्न पेपर को ठीक से समझना होगा|उसके हिसाब से रणनीति बनानी होगी |

डीएसपी (DSP)का इतिहास

पुलिस बल में डीएसपी का फुल फॉर्म (DSP ka full form) को समझ चुके हैं आइए अब समझते हैं कि डीएसपी(DSP) रैंक अस्तित्व में कैसे आया |

इसे भी पढ़े : IIT का फुल फॉर्म क्या होता है ( IIT full form in Hindi )

वर्ष 1876 में भारतीय करण की नीति की शुरुआत के साथ डीएसप(DSP) का पद ब्रिटिश सरकार द्वारा कमिश्नरी प्रणाली में बनाया गया था | इसकी स्थापना से ही पूरी तरह का एक पद था जो एक सहायक अधीक्षक के समकक्ष माना जाता था । यह पद उस समय केवल यूरोपीय लोगों के पास था।

वर्तमान समय में डीएसपी(DSP) का पद पुलिस वालों से संबंधित राज्य पुलिस अधिकारियों को दर्शाता है | डीएसपी का प्रवेश या सीधे उस रैंक पर होता है या विभाग में पदोन्नति के माध्यम से होता है |

DSP की शक्ति क्या होती है

जैसा कि हमने हिंदी में डीएसपी का फुल फॉर्म (DSP ka full form) देखा है अब समझते हैं कि डीएसपी का अर्थ क्या है और डीएसपी की शक्तियां क्या क्या है| आधिकारिक तौर पर एक डीएसपी सहायक पुलिस आयुक्त के समकक्ष होता है|

कुछ प्रशासनिक और वित्तीय शक्तियों के साथ एक डीएसपी(DSP) बनाया जाता है | डीएसपी जिले में अधीनस्थ अधिकारियों के प्रशासनिक नियंत्रण को सुनिश्चित करने के साथ-साथ कानून व्यवस्था की सुरक्षा का प्रभारी होता है|

इसे भी पढ़े ; डीएम का फुल फॉर्म (DM full form in Hindi) क्या होता है

एक डीएसपी का वित्तीय शक्ति वित्तीय नियम 1986 और बाद में किए गए संशोधन के अनुसार है | एक डीएसपी के कर्तव्य के मूल रूप से एसपी(SP) या पुलिस अधीक्षक को उनके पर्यवेक्षण और कर्तव्य के नियंत्रण में सहायता करना शामिल है ।

डीएसपी(DSP)का आवंटन

एक जिले में डीएसपी आमतौर पर सर्कल अधिकारी(CO) के रूप में तैयार होते हैं | इस रैंक के अधिकारियों की भर्ती के लिए सरकार द्वारा समय- समय पर परीक्षा आयोजित की जाती है | इसके अलावा संबंधित राज्य सरकारों के नियमों के आधार पर एक डीएसपी को कुछ वर्ष सेवा करने के बाद एक आईपीएस अधिकारी बना दिया जाता है |

डीएसपी का फुल फॉर्म(DSP ka full form) क्या होता है
डीएसपी का फुल फॉर्म(DSP ka full form) क्या होता है

डीएसपी(DSP)कैसे बनता है

कोई उम्मीदवार जो डीएसपी(DSP)बनने की इच्छा रखता है| उसे राज्य स्तरीय परीक्षा के लिए उपस्थित होना पड़ता है जो राज्य लोक सेवा आयोग से जुड़ा होता है | डीएसपी(DSP)बनने के लिए कठिन परीक्षा का सामना करना पड़ता है क्योंकि यह कई चरणों में आयोजित की जाती है| केवल एक उम्मीदवार जो परीक्षा के सभी चरणों उत्तीर्ण करता है वही डीएसपी के योग्य है ।

DSP पद पर भर्ती के लिए आयोजित की जाने वाली परीक्षा

डीएसपी (DSP) बनने के लिए राज्य लोक सेवा आयोग द्वारा संचालित परीक्षा को पास करना होगा । इस पद पर भर्ती के लिए आयोजित की जाने वाली परीक्षा को 3 चरणों में बाटा जाता है ।

  1. प्रारंभिक परीक्षा
  2. मेंस परीक्षा
  3. इंटरव्यू (साक्षात्कार)

डीएसपी बनने के लिए पात्रता एवं मानदंड

पुलिस अधीक्षक(DSP)बनने के लिए परीक्षा के लिए आवेदन करने से पहले उम्मीदवार को यह भी सुनिश्चित करना होगा कि वे इसके लिए सभी आवश्यक पात्रता मानदंडों को पूरा करते हैं जिनमें शामिल है

  • उम्मीदवार को भारत का नागरिक होना चाहिए|
  • छात्रो को किसी भी विषय में किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या संस्थान से स्नातक पूरा करना आवश्यक है|
  • उम्मीदवार की आयु कम से कम 21 से 30 वर्ष होना चाहिए |
  • अनुसूचित जाति ,अनुसूचित जनजाति वर्गों के उम्मीदवार के मामले में आयु सीमा में 5 वर्ष की छूट दी गई है|
  • परीक्षा के लिए आवेदन करने वाले विद्यार्थी की ऊंचाई कम से कम 168 सेंटीमीटर होनी चाहिए|
  • महिला उम्मीदवार की लंबाई कम से कम 155 सेंटीमीटर होने चाहिए|

डीएसपी का फुल फॉर्म(DSP full form in hindi)

अभी तक हमने डीएसपी फुल फॉर्म (DSP ka full form) को विस्तार से सीखा है | हालांकि डीएसपी(DSP)संक्षिप्त नाम भी एक विषय है | डीएसपी का फुल फॉर्म डाटा सिगनल प्रोसेसिंग भी होता है| यह विषय इलेक्ट्रॉनिक्स और संचार का एक अभिन्न अंग है | डीएसपी (DSP) विषय मूल रूप से कई तकनीकों के साथ डिजिटल संचार की सटीकता और विश्वसनीयता से संबंधित है|

डीएसपी बनने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए

भारत में एक डीएसपी (DSP) अधिकारी बनने के लिए उम्मीदवार को किसी भी विषय में किसी भी कॉलेज से स्नातक पूर्ण करना आवश्यक है |इसके अलावा एक उम्मीदवार को राज्य लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित राज्य सिविल सेवा परीक्षा के लिए उपस्थित होना जरूरी है|

डीएसपी(DSP) की सैलरी कितनी होती है

DSP का वेतन भारत सरकार द्वारा निर्धारित किया जाता है वर्तमान में एक डीएसपी का वेतन ग्रेड पे के साथ ₹15600 से लेकर ₹39300 तक होती है | वेतन के अलावा डीएसपी (DSP) अधिकारी को सरकार की ओर से वित्तीय के साथ-साथ गैर वित्तीय योजनाओं जैसे: आवास ,राशन में सब्सिडी आदि भी प्रदान की जाती है|

डीएसपी के अधिकार क्षेत्र में कितने पुलिस स्टेशन आते हैं

DSP के अधिकार क्षेत्र में पुलिस थानों की संख्या आमतौर पर अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग होती है एक डीएसपी के तहत पुलिस थानों की संख्या 2 से लेकर 15 के बीच हो सकती है | यह आमतौर पर हर एक राज्य के पुलिस विभाग द्वारा लगाया जाता है |

इसे भी पढ़े :

यहां पर हमने आपको डीएसपी क्या है, डीएसपी कैसे बने,डीएसपी का फुल फॉर्म(DSP ka full form) क्या होता है, के विषय में जानकारी उपलब्ध कराई है | इससे संबंधित कोई अन्य जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, तो आप हमें कमेंट बॉक्स के माध्यम से पूछ सकते हैं | हम आपके द्वारा की गई प्रतिक्रिया का इंतजार कर रहे हैं|

comment here