गूगल का आविष्कार किसने किया | गूगल का आविष्कार कब हुआ

गूगल का आविष्कार किसने किया: दोस्तों आज के दिन में हमारे जिंदगी की चौथी जरुरत इंटरनेट बन चुकी है, आप आज से कुछ साल पहले को देखो तो इंटरनेट की नाम निशान भी नहीं था, लेकिन अभी इंटरनेट 21वी सदी की सबसे जरुरी चीज  है। इसके बिना हमारी जीवन बहुत ही अधूरा होगी, अगर देखा जाये तो आज के दिनों में इंसान के लिए रोटी, कपड़ा, और माकन के बाद सबसे जरुरी चीज इंटरनेट ही है।

आज इस दुनिया में इंटरनेट इतना जयादा फैला हुआ है की पुरे वर्ल्ड में होने वाले 90% बिज़नेस का हिस्सा इंटरनेट पर ही टीका हुआ है और पुरे देश को एक साथ जोर कर रखने का काम इंटरनेट ही करता है।

पहले के दिनों में हमें अगर किसी दूसरे देश में बात करनी होती थी तो बहुत से पैसे को खर्च करना करता था पर आज के दिनों में हम इंटरनेट के माधयम से बहुत कम समये और कम पैसे को खर्च कर आराम से बात कर सकरते है।

लेकिन हम आपको बता दे की इंटरनेट की जब खोज हुई थी तब इंटरनेट ऐसा नहीं था इसे बेहतर बनाने के लिए बहुत से और अविष्कार हुए जससे  मिलकर इंटरनेट बहुत ज्यादा बेहतर हो गया और आज इंसान के जरुरत का हिस्सा बना हुआ है,इन सभी आविष्कारों में गूगल भी एक अनोखा अविष्कार है।

आपको यह भी जानने चाहिए:

दुनिया के 91% से ज्यादा लोग गूगल के बारे में जानते है और इंटरनेट पे गूगल का उपयोग करते है। Google का नाम आज के दिनों में दुनिया के बहुत बरे कंपनियों के लिस्ट में आती है पर इसकी शुरुआत एक  Search Engine रूप में हुई थी जो वेबसाइट और ब्लॉग को एनलाइज कर के लोगो द्वारा ढूढे गए सवालों के जवाब को पाने में मदद करता था। लेकिन क्या आप जानते है की इंटरनेट की इस दुनिया में ”गूगल का आविष्कार किसने किया” और ”गूगल का आविष्कार कब हुआ” ? अगर नहीं, तो आप इस आर्टिकल को पूरा पढ़े।

गूगल क्या है ? (google kya hai )

दोस्तों गूगल एक  Search Engine है जिसके सहायता से हम इंटरनेट पे उपस्थित जानकारी को प्राप्त करते है। आज तक इंटरनेट की दुनिया में जो भी आविष्कार हुई है उस में से एक गूगल एक बहुत ही बारे आविष्कार है।  जब गूगल का आविष्कार हुआ था तब गूगल सिर्फ एक  Search Engine ही था पर आज के दिनों में गूगल एक बहुत ही बरी मल्टीनेशनल कंपनी बन चूका है। दुनिया में बहुत ही कम ऐसा देश है जहा पे गूगल अपना सर्विस या प्रोडक्ट नहीं पहुँचता होगा।

गूगल अपना शुरुआत एक सॉफ्टवेयर कंपनी से किया था और आज यह इतना बरा नाम बना लिया है की सॉफ्टवेयर की पढाई करने वाले हर स्टूडेंट की गूगल में काम करने की सपना होती है।

सॉफ्टवेयर से शुरुआत कर गूगल आज के दिनों में हार्डवेयर में भी अपना परचा को लहरा रहा है। गूगल के हार्डवेयर प्रोडक्ट पिक्सल फ़ोन, गूगल होम उसके ग्राहकों को बहुत ही अच्छी लगी।

आज दुनिया में सबसे ज्यादा उपयोग में लाये जाने वाला ऑपरेटिंग सिस्टम “Android” और सबसे बरी वीडियो प्लेटफॉर्म “You Tube” भी गूगल का ही प्रोडक्ट है।

गूगल का आविष्कार किसने किया

गूगल आज के दिनों में एक बहुत ही बरी मल्टीनेशनल कंपनी है जिसका अविष्कार स्टेनफोर्ड यूनिवर्सिटी के 2 छात्रों Sergey Brin और Larry Page ने अपने कंप्यूटर इंजिनियर में पीएचडी के दौरान एक प्रोजेक्ट के रूप में किया था। लेकिन आज गूगल का जो रूप हम सब देखते है उसको बनाने में बहुत से इंजिनियरो और बुद्धिजीवियों का योगदान है।

                                              Sergey Brin और Larry Page

 आपको जान कर हैरानी होगी की जब Sergey Brin और Larry Page ने गूगल का आविष्कार किया तो उसका नाम Googol रखना चाहते थे पर स्पेलिंग मिस्टेक के वजह से इसका नाम Google हो गया और अभी यही नाम एक बहुत ही बरी ब्रांड बन चुकी है। Sergey Brin और Larry Page अभी गूगल के बहुत ही बारे शेयर होल्डर्स है।

जब Sergey Brin और Larry Page गूगल के इस प्रोजेक्ट पे काम कर रहे थे तब इनके साथ Scott Hassan भी काम किये थे और गूगल का अधिकतर कॉर्ड को इन्होने ही टाइप किया था पर ये रोबोटिक्स में करियर बनाना चाहते थे  जिसके कारण गूगल को एक कंपनी के रूप में स्थापित करने से पहले ही इन्होने उस प्रोजेक्ट को छोर दिया था और 2006 में इन्होने एक अपनी कंपनी “Willow Garage” को स्थापित किया। जिसके कारन इनको गूगल को बनाने में महत्वपूर्ण योगदान देने के बाद भी क़ानूनी रूप से मालिक नहीं मन जाता है।

गूगल का आविष्कार कब हुआ था ?

Sergey Brin और Larry Page जब  स्टेनफोर्ड यूनिवर्सिटी में कंप्यूटर इंजीनियर में पीएचडी कर रहे थे तब वे Google के इस प्रोजेक्ट पर बहुत दिन से काम कर रहे थे, पर उन्होंने एक निजी तौर पे इस कंपनी का स्थापना  4 सितंबर 1998 को संयुक्त राज्य अमेरिका के  कैलिफोर्निया में किया। अगर आप ऐसे देखे तो गूगल का आविष्कार 4 सितम्बर 1998 में हुआ।

Sergey Brin और Larry Page
                    गूगल का आविष्कार कब हुआ था    

ऐसा नहीं है की गूगल का खोज इंटरनेट पे पहला सर्च इंजिन के रूप में हुआ था इससे पहले और कई सर्च इंजिन थे पर उनमे दिकत यह थी की वो किसी वेबपेज को सर्च किये गए kyeword पर रैंक करते थे, मतलब जिस वेब पेज पे सर्च किया हुआ शब्द ज्यादे होंगे उस को रैंक किया जाता था जिसके कारन यूजर को सही जानकारी नहीं मिल पाती  थी।

गूगल ने एक नए कार्यप्रणाली के साथ मार्केट में आया जिसके कारन ओ औरो से अलग था। यह यूज़र द्वारा पूछे गए विषय को एनलाइज कर के उस से सम्बंधित पेज को ही यूज़र को दिखाता था जिसके कारन यूजर को पूछे हुए सवालों का सही जवाब मिल जाता था। 

 Larry Page ने जब इस आइडिआ को Scott Hassan को बताया तो ओ तुरंत इसके कोडिंग में लग गए, हाला की यह आइडिया Larry Page का था इसके कारन इसका नाम PageRank रखा गया था।

 PageRank जैसी आईडिया पे काम करने वाली सर्च इंजिन चुकी ये बैकलिंक के आधार पे काम कर रही थी इसके कारन इसका नाम  BackRub रख दिया गया। इसके बाद इस तरह के आईडिया पे Baidu जैसा सर्च इंजिन को बनाया गया।

बाद में इसी BackRub का नाम बदल कर Google कर दिया गया , हाला की यह एक स्पेलिंग मिस्टेक थी नहीं तो BackRub का नाम Googol रखा जाना था।

बाद में 15 सितम्बर 1997 को www.google.com नाम से एक डोमेन को खरीद कर सितम्बर 1998  को उसे एक कॉरपरेट कंपनी के रूप में स्थापित कर दिया गया। 

गूगल का आविष्कार कहा हुआ 

Sergey Brin और Larry Page जब  स्टेनफोर्ड यूनिवर्सिटी में कंप्यूटर इंजीनियर में पीएचडी कर रहे थे तब वे Google के इस प्रोजेक्ट पर बहुत दिन से काम कर रहे थे, लेकिन सितम्बर 1998 को इसको कॉरपरेट कंपनी के रूप में  कैलिफोर्निया (संयुक्त राज्य अमेरिका) में हुआ। अतः Google का आविष्कार  कैलिफोर्निया (संयुक्त राज्य अमेरिका) में हुआ।

गूगल और भारत का कनेक्शन 

अगर साफ भाषा में देखा जाये तो गूगल एक मल्टीनेशनल कंपनी में से एक है जो की इंटरनेट यूजर को इंटरनेट से जुड़ी सर्विस को प्रदान करता है। अगर बात सॉफ्टवेयर कंपनी के मार्केट शेयर की करे तो दुनिया के 91% इंटरनेट यूजर गूगल का उपयोग करते है, और गूगल सॉफ्टवेयर में ही नहीं बल्कि हाडवेयर में भी अपनी काबिलियत को बनाये हुए है। गूगल से भारत का कनेक्शन देखे तो गूगल का वर्तमान CEO सुन्दर पिचाई है जो कि भारत के रहने वाले है और इसके मुख्य शेयरहोल्डर भी है।

गूगल का प्रोडक्ट 

गूगल एक सर्च इंजिन से खुद को शुरुआत कर के आज के दिनों में अपने बहुत से और प्रोडक्ट को मार्केट में लंच किया है जो लोगो द्वारा बहुत ही पसंद किया जा रहा है जैसे, Android, यूट्यूब, Blogspot,Google Docs, Gmail, Google Suit, Google Assistent, Google Keep, पिक्सल फ़ोन, गूगल होम इत्यादि।

गूगल की कुछ खास बाते 

  • गूगल कि एक सेकंड कि कमाइ लगभग 1 लाख 30 हज़ार 900 रूपए है। 
  • 2020 के रिपोर्ट से गूगल पे एक सेकेंड में 40K सर्च होते थे और अब और भी ज्यादा हो गया है। 
  • गूगलर पर 1998 में एक दिन में 10K सर्च होते थे जो 2006 में एक सेकेंड में 10K होने लगे। 
  • गूगल में जॉब करने के लिए हर हप्ते 20K+ फॉर्म भरे जाते है। 
  • हर रोज गूगल पे 20%  ऐसे सर्च होते है जो की पहले गूगल पे कभी नहीं सर्च किया होता है। 
  • गूगल को 5Cr वेबपेज को स्कैन करने में 1999 में महीनो लग जाती थी और वही 2012 एक मिनट में कर लेती थी। 
  • गूगल के हेड ऑफिस में 200 बकरिया घास को खाने के लिए रखा गया है। 
  • 80% स्मार्ट फ़ोन में गूगल द्वारा बनाये गए Android का उपयोग  होता है। 
  • गूगल में काम करने वाले 14% लोग कभी कॉलेज में गए ही नहीं थे। 
  • यह अनुमान लगाया जाता है की गूगल के सभी Data Center में 9 लाख से अधिक सर्वर मौजूद है। 
आपको यह भी जानने चाहिए:

FAQ  

1. गूगल के अविष्कारक कौन है ?
Ans.  Sergey Brin और Larry Page गूगल  अविष्कारक है।
2. गूगल का निर्माण कब हुआ था ?
Ans. गूगल का निर्माण  4 सितंबर 1998 में हुआ था।
3. गूगल का निर्माता कौन है ?
Ans. गूगल का निर्माता Sergey Brin और Larry Page है।
4. गूगल का आविष्कार किस देश में हुआ ?
Ans. गूगल का आविष्कार कैलिफोर्निया (संयुक्त राज्य अमेरिका) में हुआ।
5. गूगल क्या है ?
Ans. गूगल एक सर्च इंजिन है जो इंटरनेट यूजर को इंटरनेट से जुड़ी सर्विस को प्रदान करता है

अंतिम शब्द 

दस्तो मै उम्मीद करता हु की आप इस आर्टिकल के माध्यम से  जान गए होंगे की “गूगल का आविष्कार किसने किया” और “गूगल का आविष्कार कब हुआ” इन सभी के बारे में जानने के साथ गूगल के आविष्कार से जुड़े कई सवालों के जवाब इस आर्टिकल में आपको मिले होंगे।

आशा है की आप को यह पोस्ट अच्छी लगी होगी,और साथ ही मेरा आप से अनुरोध है की अगर इस आर्टिकल में आपको कोई गलती दिखे या आपको लगे की इसमें कुछ सुधर की जरुरत है तो आप अपनी राय हमें कमेंट में जरूर दे आपके ऐसा करने से हमें भी कुछ सिखने और सुधार लाने का मौका मिलेगा।

comment here