IIT का फुल फॉर्म क्या होता है ( IIT full form in Hindi )

आज के इस आर्टिकल में हम जानेंगे IIT के बारे में जैसे कि आईआईटी(IIT) क्या है, आईआईटी कैसे करें, आईआईटी का फुल फॉर्म( IIT full form in Hindi ) क्या होता है, आईआईटी की तैयारी कैसे करें और अंत में जानेंगे IIT के फायदों के बारे में तो आप इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें |

आईआईटी(IIT) क्या है ( IIT kya hai )

IIT : Indian institute of technology जिसे भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान भी कहते हैं | आईआईटी(IIT) की परीक्षा हर साल आयोजित की जाती है | यह स्नातक ( ग्रेजुएशन) के लिए होता है |आईआईटी भारत में उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए सर्वजनिक शिक्षा संस्थान है आईआईटी की स्थापना खड़कपुर में 1951 में हुई थी आईआईटी भारत के मुख्य शिक्षण संस्थानों में से एक हैं वर्तमान देश में कुल 23 आईआईटी(IIT) कॉलेज हैं , जो एडमिशन के लिए entrence Exam पास करना होगा |

यहां से इंजीनियरिंग करके छात्र करोड़ों का पैकेज ले पाते हैं | आईआईटी(IIT) कॉलेज के द्वारा अच्छे-अच्छे इंजीनियर बनाए जाते हैं और देश – विदेश में जाकर काफी अच्छा पैसा भी कमाते हैं | आईआईटी परीक्षा में भौतिकी ,रसायन और गणित का पेपर होता है और आईआईटी परीक्षा की तैयारी के लिए बहुत से प्रशिक्षण केंद्र भी है, जिनमें जा करके आप आईआईटी(IIT) के लिए तैयारी कर सकते हैं |

IIT का फुल फॉर्म(IIT full form in Hindi )क्या होता है

  • IIT full form in Hindi : भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान
  • Full form of IIT: Indian institute of technology

आईआईटी (IIT) कैसे करे

चाहे कोई भी परीक्षा हो आप उसे बिना तैयारी के पास नहीं कर सकते अगर आप पूरी तैयारी के साथ उस परीक्षा की तैयारी करते हैं तो आप उसमें जरूर सफल होंगे तो आइए जानते हैं आईआईटी की तैयारी कैसे करें |

  • मुख्य विषय पर फोकस करना

परीक्षा में पास होने के लिए आपको ज्यादा ध्यान आईआईटी के विषय पर देना चाहिए जो सबसे मुख्य माने जाते हैं इसके लिए आप 11th और 12th के रसायन ,गणित और भौतिक विज्ञान पर ज्यादा ध्यान दें |

  • निश्चित समय निर्धारित करें

किसी भी परीक्षा में समय का महत्व सबसे ज्यादा होता है जिसका ध्यान आपको रखना चाहिए : आप पहले समय निर्धारित करें और अपनी पढ़ाई शुरू करें और निश्चित समय में सभी प्रश्नों को हल करने की कोशिश करें | आप सभी विषयों के लिए एक निश्चित समय भी बना सकते हैं जिससे आपको पढ़ने में आसानी हो |

  • पिछले साल के पेपर को हल करें

परीक्षा का पैटर्न कैसा होता है इसकी जानकारी आपको पुराने पेपर से मिल जाती है . पिछले साल के आईआईटी(IIT) के क्वेश्चन के आधार पर आप अपनी तैयारी कर सकते हैं ।

आईआईटी(IIT)करने के फायदे क्या है

1. इज्जत मिलना : अगर आप IIT करते हैं और आपके परिवार और दोस्त को इसके बारे में पता चलता है तो आप उनके और अन्य लोगों के बीच काफी इज्जत पाते हैं |

2.अच्छी सुबिधा :आईआईटी के माध्यम से काफी अच्छी सुविधाएं भी दी जाती है ,आपको पढ़ने के लिए अच्छी लैब मिलती है और कंप्यूटर सेंटर की सुविधा भी मिलती है |

3.Learn more things : आईआईटी में छात्र को इंजीनियरिंग और रिसर्च के अलावा बहुत सी चीजें भी सिखाई जाती है आपको मैनेजमेंट ,फाइनेंस और सोशल स्किल्स के बारे में भी सिखाया जाता है ।

4. Easy placement: आईआईटी(IIT) करने के बाद आपको आसानी से एक अच्छी नौकरी मिल जाती है और आपका अच्छी जगह प्लेसमेंट भी हो जाता है |

आईआईटी(IIT) के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए

आईआईटी के योग्यता के लिए 12वीं कक्षा के अपने बोर्ड परीक्षा में शिर्ष 20 फ़ीसदी अंक प्राप्त करने वाले छात्र इस परीक्षा में जा सकते हैं ।

अभी इसके लिए 75 फ़ीसदी अंक अनिवार्य है यह समय – समय पर बदलता रहता है यह देश के सभी बोर्ड के मूल्यांकन के आधार पर तय किया जाता है । इसमें अनुसूचित जाति जनजाति और विकलांग को कुछ छूट भी दी जाती है ।

IIT के लिए आयु(AGE ) सीमा

इस परीक्षा में उम्मीदवारों के लिए कोई आयु सीमा तय नहीं की गई है। जिन उम्मीदवारों ने 2019, 2020 में कक्षा 12 की परीक्षा उत्तीर्ण की है या 2021 में उपस्थित हो रहे हैं, वे दोनों परीक्षाओं में उपस्थित होने के पात्र हैं |

इसे भी पढ़े : डिप्लोमा क्या है,डिप्लोमा(Diploma)कोर्स में एडमिशन कैसे लें

उम्मीदवारों को उन संस्थानों की आयु सीमा आवश्यकताओं की पात्रता के बारे में खुद को संतुष्ट करना चाहिए | जिनमें वह प्रवेश लेने के इच्छुक हैं जैसे जन्म तिथि 10th के प्रमाण पत्र के अनुसार होनी चाहिए |

IIT का परीक्षा कैसे होती है

2013 से आईआईटी(IIT) की प्रवेश परीक्षा दो भागों में संपन्न कराई जाती है एक JEE mains तथा दूसरा jee advance .

अगर कोई छात्र आईआईटी में एडमिशन कराना चाहता है तो सबसे पहले उसे JEE mains का परीक्षा देना होगा JEE mains में पास हो जाने के बाद वह jee advance के लिए आवेदन कर सकता है | लगभग हर साल डेढ़ लाख छात्र JEE एडवांस परीक्षा में बैठते हैं |

IIT परीक्षा का पैटर्न क्या है

आईआईटी(IIT) का परीक्षा का पैटर्न कुछ इस प्रकार से है

BE BTec:

इसमें गणित रसायन विज्ञान तथा भौतिक विज्ञान के 30 – 30 प्रश्न होते हैं और हर एक प्रश्न चार अंको का होता है । यानी कुल 90 प्रश्न होते हैं तथा कुल 360 अंक होता है ।

B ark और B planning :

इसमें गणित के 30 प्रश्न होते हैं जो 120 अंकों का होता है और एप्टिट्यूड टेस्ट के 50 प्रश्न में जो 200 अंकों का होता है और ड्राइंग टेस्ट के दो प्रश्न सत्ता अंकों के होते हैं और कुल समय 3 घंटे का होता है ।

आईआईटी(IIT) इंजीनियरिंग के लिए टिप्स

1, आईआईटी एंट्रेस एग्जाम की तैयारी शुरू करें तो अपनी तुलना किसी दूसरे से बिल्कुल ना करें, अपना ध्यान सिर्फ अपने लक्ष्य पर फोकस करें ।

2 . आईआईटी एंट्रेस एग्जाम के लिए गणित, रसायन और भौतिकी के प्रश्न पूछे जाते हैं | आपके लिए यही तीनों विषय को ध्यान से पढ़ने की जरूरत है ।

3 . जब भी आप आईआईटी (IIT) का तैयारी करें तब से अपने आप को टेस्ट करते रहें और मॉडल पेपर को पूरी ईमानदारी के साथ सॉल्व करें और खुद से अवलोकन भी करें कि आप कितना सही है |

4 . खुद के आत्मविश्वास को हमेशा ऊंचा रखें और हो सकता है कि आपको एक पहली बार में आईआईटी पास ना कर पाए तो ऐसे स्थिति में अपने हौसलों को कभी भी नीचा ना गिरने दे, बल्कि अपनी गलतियों को सुधार करके आगे के लिए अपने आपको तैयार करें ।

5. किसी भी परीक्षा में निर्धारित समय ही हमारा रास्ता और दिशा तय करता है| इसीलिए परीक्षा के मिलने वाले 3 घंटे का महत्व आप अच्छे से समझिए और आपका उद्देश्य हो कि आपको इसी समय में सभी प्रश्न को हल करनी हि है ।

6. अच्छी तैयारी के लिए अच्छी स्वास्थ्य और नींद भी जरूरी है इसीलिए इन बातों को भी अच्छे से फॉलो करें ताकि आपको अपने उद्देश्यों को पूरा करने के लिए मदद मिले |

7 . आईआईटी (IIT) परीक्षा के तैयारी के लिए खबर इंटरनेट और चर्चा एवं सफल छात्रों के इंटरव्यू को देखते और पढ़ते रहे ।

8. सफलता के लिए प्लानिंग भी जरूरी होती है इसीलिए आईआईटी (IIT) एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी के लिए भी आपको कितने घंटे पढ़ना है, क्या पढ़ना है और कब क्या करना है | इन सभी बातों की रूटिंग जरूर बना ले और इसे 100% प्रतिशत तरीके से लागू भी करें ।

IIT के लिए प्रयासों की सीमा कितनी होती है

इसमें प्रयासों की सीमा 3 तक होती है, यानी आप तीन बार कोशिश कर सकते हैं | नागालैंड उड़ीसा और मध्य प्रदेश में इसका प्रधान कुछ अलग है अगर आपको आईआईटी का परीक्षा देना है तो IIT के लेटेस्ट अपडेट को हमेशा देखते रहे |

इसे भी पढ़े :

दोस्तों आज हमने इस आर्टिकल में आपको पूरी विस्तार से आईआईटी क्या है ,आईआईटी का फुल फॉर्म( IIT full form in Hindi )क्या है, आईआईटी कैसे करें, आईआईटी के फायदे क्या है इससे जुड़ी अन्य जानकारियों को हमने पूरी विस्तार से बताया है अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आई हो तो आप हमें कमेंट जरूर करें ।

comment here