नेटवर्क मार्केटिंग क्या है ( network marketing kya hai )

आज हम आपके लिए इस आर्टिकल में नेटवर्क मार्केटिंग क्या है , इससे जुड़कर आप कैसे कमा सकते हैं और किन बातों को ध्यान में रखना चाहिए ।  इन सभी विषयों पर पूरा विस्तार से चर्चा करेंगे तो आप इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें |

वैसे तो नेटवर्क मार्केटिंग के बारे में आपने भी बहुत सुना हि होगा क्योंकि आजकल इस मार्केटिंग के बारे में हर जगह बात की जा रही है क्योंकि यह मार्केटिंग का एकदम सा अलग मॉडल है और बहुत सी कंपनियां इस मार्केटिंग मॉडल को बहुत लंबे समय से अपना भी रही है ऐसे में आपको नेटवर्क मार्केटिंग के बारे में जानकारी जरूर रखनी चाहिए तभी तो आप इससे जुड़ पाएंगे और मुनाफा कमा पाएंगे |

नेटवर्क मार्केटिंग क्या है ( network marketing kya hai )

नेटवर्क मार्केटिंग एक ऐसा बिजनेस मॉडल है जिसमें लोग एक नेटवर्क ( समूह ) के रूप में शामिल होते हैं और किसी कंपनी के प्रोडक्ट को बेचते (sell ) हैं ‘ इस नेटवर्क का हर डिस्ट्रीब्यूटर यानी सदस्य एक इंडिपेंडेंट सेल्स रिप्रेजेंटेटिव होता है ।

इस नेटवर्क में जुड़ने वाले लोगों को प्रोडक्ट बेचने पर एक फिक्स कमीशन मिलता है . जब भी वह किसी कंपनी का प्रोडक्ट बेचते हैं । तो उनके द्वारा नेटवर्क में जोड़ा गया नया मेंबर भी सामान बेचता है तो इस बिजनेस मॉडल में हर पार्टिसिपेट को आईबीओ ( independent business owner ) कहा जाता है ।

क्योंकि वह अपने बिजनेस को खुद प्रमोट करते हैं नेटवर्क मार्केटिंग के जरिए प्रोडक्ट को डायरेक्ट कंजूमर तक पहुंचाया जा सकता है । नेटवर्क मार्केटिंग को मल्टी लेवल मार्केटिंग भी कहा जाता है इसके अलावा भी नेटवर्क मार्केटिंग के बहुत से नाम है जैसे

  • Cellular marketing
  • Affiliate marketing
  • consumer direct marketing
  • referral marketing
  • home based business franchising

नेटवर्क मार्केटिंग क्या है उदाहरण के माध्यम से समझे

नॉर्मली marketing में यहि होता है की आप किसी कंपनी का सामान बेचेंगे तो आपको उस समान के अनुसार आपको कुछ कमीशन मिल जाएगा ।

लेकिन नेटवर्क मार्केटिंग इससे थोड़ा अलग है और एडवांस भी है ।कैसे इसे इस तरह समझते हैं मान लीजिए कि आप किसी कंपनी से जुड़े हुए हैं और उसका ( प्रोडक्ट )सामान अपने दोस्त को बेचा . ऐसा करने से आपको कंपनी से कमीशन मिल गया लेकिन अगर आपके दोस्त ने भी उसी कंपनी का वही समान अपने दोस्त को भी बेच दिया तो आपको क्या लगता है कमीशन किसे मिलेगा ? नेटवर्क मार्केटिंग में इसका कमीशन आपके दोस्त को भी मिलेगा और उसके कमीशन का एक फिक्स्ड हिस्सा आपको भी मिलेगा ।

अब सवाल है कि आपको कमीशन क्यों मिलेगा जबकि  प्रोडक्ट  आपका दोस्त ने बेचा है यही तो नेटवर्क मार्केटिंग में होता है कि आपके नेटवर्क में जितने भी लोग उस प्रोडक्ट को बेचेंगे तो इसका कमीशन आपको भी मिलता जाएगा ।

नेटवर्क मार्केटिंग का फायदा

नेटवर्क मार्केटिंग के इस बिजनेस मॉडल को फॉलो करने वाले ऑर्गेनाइजेशन या कंपनी अपनी प्रोडक्ट की मार्केटिंग और सेल डायरेक्ट करती है । इसके लिए वह किसी डिस्ट्रीब्यूटर की मदद नहीं लेती है बल्कि इससे नॉन इंप्लॉयड पार्टिसिपेट को जिम्मेदारी दे दी जाती है जो हर बार बेचने पर कमीशन पाते हैं ।

इस नेटवर्क से जुड़ कर आपको काम करने में बहुत ज्यादा पैसा इन्वेस्ट नहीं करना होता है और ना ही इसमें कोई टाइम बाउंडेशन होता है ‘इस तरह के मॉडल में पार्टिसिपेट को अट्रैक्टिव डिस्काउंट और ऑफर्स भी मिलते हैं क्योंकि वह उस नेटवर्क का कंजूमर भी होते हैं ।

इस बिजनेस मॉडल में बाकी बिजनेस मॉडल्स की तरह ज्यादा प्रचार करने की जरूरत नहीं होती है क्योंकि प्रचार की तुलना में पर्सन टु पर्सन होने वाली मार्केटिंग ज्यादा प्रभावी होती है ।

नेटवर्क मार्केटिंग क्या है

इस मार्केटिंग का पैरामीड नेटवर्क बहुत बड़ा हो जाता है इसके साथ ही हर पार्टिसिपेट करने वाले का कमीशन भी बढ़ता जाता है  यह कमीशन बेस्ड नेटवर्क है  जिसमें पार्टिसिपेट को कोई फिक्स सैलरी नहीं दी जाती है बल्कि वह जितना अच्छा परफॉर्म करते जाएंगे उतना उनका कमीशन बढ़ता जाएगा |

डायरेक्ट सेलिंग क्या है?

डायरेक्ट सेलिंग का अर्थ है उपभोक्ताओं को सीधे उनके घरों में या जहां वे काम करते हैं, वहा सामान या सेवाएं बेचना। बिक्री खुदरा वातावरण में नहीं होती है, अर्थात यह किसी दुकान में नहीं होती है।

इसे भी पढ़े :    सॉफ्टवेयर क्या है 

आप आमतौर पर दुकानों, सुपरमार्केट या डिपार्टमेंट स्टोर में प्रत्यक्ष बिक्री वाले उत्पाद नहीं ढूंढ सकते। उन्हें खरीदने का एकमात्र तरीका सीधे किसी एजेंट से संपर्क करना है।

सावधानियां

नेटवर्क मार्केटिंग के इतने सारे फायदे जानकर के इससे परफेक्ट मॉडल नहीं मानना चाहिए बल्कि इसके दूसरे पहलुओं को भी एक बार देख लेना चाहिए ।

क्योंकि कई बार ऐसी कंपनियां भी मार्केट ( बजार ) में आती है जो अपना फ्रॉड प्लान लोगों को दिखा करके अपनी ओर आकर्षित करती है और उनके पैसे लेकर के भाग जाती है तो ऐसे में इस कंपनियों से सतर्क रहने की बहुत ज्यादा जरूरत होती है ।

साथ ही साथ किसी कंपनी से जुड़ने से पहले थोड़ा जानकारियां ले लेना जरूरी होती है चाहे आपका कोई  दोस्त या संबंधी ही क्यों ना कह रहा हो ।

इसीलिए नेटवर्क मार्केटिंग के किसी कंपनी से जुड़ने से पहले इन सवालों के जवाब पता कर लेना चाहिए ।

  •  उस कंपनी का रूल क्या है
  • उस कंपनी का फाउंडर और सीईओ का ट्रैक रिकॉर्ड क्या है
  • उस कंपनी में ट्रेनिंग कैसे दी जाती है
  • क्या आप उस कंपनी के सामान को उपयोगी समझते हैं
  • क्या आपको उस कंपनी के समान का क्वालिटी सही लगती है
  • क्या आपके करीबी लोग उस प्रोडक्ट को खरीदने और उपयोग करने के लिए उत्साहित होंगे
  • क्या इस कंपनी के प्रोडक्ट को प्रमोट किया गया है

ऐसे सारे सवालों के जवाब आपको बताएंगे कि क्या वह कंपनी सही है और क्या आप उस कंपनी के नेटवर्क से जुड़कर अच्छा कमीशन कमा सकेंगे ।

दोस्तों आजकल बहुत कंपटीशन का जमाना है और थोड़ा सा ज्यादा पाने की चाहत में अक्सर लोग बहुत गलत फस जाते हैं क्योंकि लोगों के पास दिखाने के लिए बहुत कुछ है लेकिन कौन कितना वास्तव में है या नहीं यह सारी जांच पड़ताल आप ही को करनी होगी ।

इसीलिए किसी की बातों में ना आए अपनी तरह से आराम से टाइम लेकर सारी रिसर्च करें और तभी आगे बढ़े क्योंकि यहां पर आपकी खून पसीने की सारी कमाई लगने वाली होती है और आपका सबसे महत्वपूर्ण समय भी बर्बाद हो जाता है

निष्कर्ष

तो दोस्तों नेटवर्क मार्केटिंग क्या होती है  और इससे जुड़कर आप कैसे कमा सकते हैं और किन बातों से सावधान रहना जरूरी होता है यह आपने जान लिया । इसके साथ-साथ यह भी याद रखना होगा कि चाहे आप किसी कंपनी में नौकरी करते हो या नेटवर्क मार्केटिंग के जरिए कमा रहे हो मेहनत तो आपको हि करनी होगी ।

क्योंकि बिना मेहनत के  नहीं कामाया जा सकता है । और हां यह सच है कि नेटवर्क मार्केटिंग से जुड़ कर आप जल्दी और लंबे समय तक के लिए अच्छे कमाई कर सकते हैं अगर आप बताये हुए स्ट्रेटजी से चलेंगे तो आप अपने मंजिल तक जरूर पहुंच पाएंगे ।धन्यवाद

इसे भी पढ़े : 

⇒   बल्ब का आविष्कार किसने किया

⇒    भारत का सबसे अमीर आदमी कौन है

⇒    गूगल  का मालिक कौन है

 

 

comment here