ओपीडी का फुल फॉर्म क्या होता है | OPD ka full form kya hota hai

आज के इस आर्टिकल में जानेंगे के ओपीडी क्या होता है ,OPD ka full form kya hota hai एवं ओपीडी से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारियों के बारे में भी बताएंगे तो आप इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें ‘

कई लोगों को ओपीडी के बारे में पूरी जानकारी नहीं होती है इसलिए इस आर्टिकल के जरिए आपको ओपीडी से संबंधित सभी प्रकार की जानकारियां को बताएंगे |

अक्सर आप सभी कई प्रकार के अलग-अलग शब्द सुने होंगे उसमें से कई शब्द ऐसे होते हैं जिसके बारे में हमें ज्यादा जानकारी नहीं होती है ओपीडी शब्द भी कुछ इसी प्रकार का होता है |ओपीडी के फुल फॉर्म के बारे में जानकारी होना बहुत जरूरी है क्योंकि भविष्य में कई अलग-अलग स्थानों पर आपके लिए यह जानकारी उपयोगी हो सकती है|

ओपीडी(OPD) का फुल फॉर्म क्या होता है

OPD ka full form: out patient department होता है हिंदी में इसे बाह्य रोगी विभाग कहते हैं तो अब जानते हैं की ओपीडी क्या है |

ओपीडी क्या है|OPD kya hai

OPD कई अलग-अलग प्रकार का होता है सामान्यत: इसके कक्ष ग्राउंड फ्लोर पर ही बनाए जाते हैं ताकि किसी भी मरीज को इलाज के लिए परेशानी ना हो या कोई भी मरीज अस्पताल में जाता है तो सर्वप्रथम उसको ओपीडी(OPD) में ले जाया जाता है|

इसे भी पढ़े : कंप्यूटर का फूलफॉर्म (computer full form in hindi) क्या होता है

जहां उसकी बीमारी के बारे में पता लगाया जाता है एवं उस व्यक्ति को उस बीमारी से संबंधित विभाग में इलाज के लिए भेजा जाता है ताकि उसका सही तरीके से इलाज किया जा सके |

OPD को कई अलग-अलग भागों में बांटा गया है जैसा कि स्त्री रोग, चर्म रोग, हड्डी रोग, दंत रोग एवं अन्य कई अलग-अलग भागों में बांटा गया है|

ओपीडी की सेवाएं

OPD ka full form के बारे में जान लिए होंगे तो चलिए जानते हैं ओपीडी (OPD) की सेवाएं के बारे में ओपीडी की अलग-अलग प्रकार की सेवाएं होती है जिसके द्वारा मरीज का इलाज किया जाता है जो निम्न प्रकार से हैं:

कंसल्टेशन चेंबर
  • यह सामान्य सेवा होती है जिसमें किसी भी मरीज को स्वास्थ्य से संबंधित किसी भी डॉक्टर या विशेषज्ञ द्वारा सलाह दी जाती है|
एग्जामिनेशन रूम
  • यह ओपीडी की वह सेवा है जिसके अंतर्गत किसी मरीज को जांच की जाती है और रोगी के बीमारी के बारे में पता लगाया जाता है|
डायग्नोस्टिक रूम
  • यह ओपीडी(OPD) का वह हिस्सा होता है जिसके अंतर्गत रेडियोलोजी, विकृति विज्ञान, सूक्ष्म जीव विज्ञान, व क्लीनिकल आदि सेवाएं आती है |

इसके अलावा भी ओपीडी के कई अलग-अलग भाग होते हैं इसके आधार पर रोगी के बीमारी के अनुसार अलग-अलग सेवाएं प्रदान की जाती है|

ओपीडी में रोगियों के प्रकार

कई लोगों को पता नहीं होगा कि ओपीडी में कितने प्रकार के मरीज होते हैं तो मैं आपको बता दूं कि इसमें दो प्रकार के रोगी होते हैं |

पहला: जिसको इस इलाज के लिए अस्पताल लाया जाता है पर उसको अस्पताल में भर्ती नहीं किया जाता है

दूसरा: इसमें वह रोगी आता है जिसको इलाज के लिए अस्पताल में लाया जाता है और इसके साथ ही उसको इलाज के लिए 1 या उससे अधिक दिनों के लिए भर्ती किया जाता है | यह दोनों प्रकार के रोगी ओपीडी के अंतर्गत आते हैं वह इसी के आधार पर किसी भी रोगी का इलाज किया जाता है|

तो दोस्तों यह थी जानकारी ओपीडी से जुड़ी हुई मैंने आपको बताया कि OPD ka full form kya hota hai, ओपीडी में रोगियों के प्रकार क्या-क्या होते हैं, ओपीडी क्या होते हैं एवं ओपीडी में क्या-क्या सुविधाएं मिलती है अगर यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो आप कमेंट जरूर करें|

comment here