वेबिनार क्या है | सेमिनार और वेबिनार में अंतर क्या है

जब से कोरोना का महामारी पुरे दुनिया में चल रही थी तब से दुनिया में होने वाली हर जरुरी मीटिंग को ऑनलाइन पलेटफोर्म पे लिया जाने लगा है और आज के दिनों में आप अक्सर बहुत से बिज़नेस या मीटिंग को ऑनलाइन देखते होंगे। किसी जनकारी को लेकर आमतोर पे सोशल मिडिया के प्लेटफॉर्म पे अक्सर आप वेबिनार( Webinar )आयोजन के पोस्ट को देखते होंगे।

आज के दिनों में बिज़नेस और मार्केटिंग के लिए वेबिनार एक बेस्ट अवसर बन गया है, पर बहुत से लोग ऐसे है जो बेबीनार का मतलब ही नहीं जानते है तो आइये इस आर्टिकल के माध्यम से हम जानते है की वेबिनार क्या है, वेबिनार से जुड़ी हर जानकारी |

वेबीनार क्या है ( Webinar kya hai )

करोना महामारी के कारण पूरे विश्व में एक दूसरे से लोग दुरी बना कर रह रहे है जिस के कारण किसी बिज़नेस या एजुकेशन के लिये हो रहे सेमिनार अब ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पे होने लगे है।

इसके लिए किसी भी वेबिनार प्लेटफॉर्म जैसे Zoom को लोग अपने इंटरनेट के माध्यम से अपने फ़ोन या PC में इंस्टॉल कर ले रहे है और ऑनलाइन हो रहे वेबिनार में भाग ले है।

अतः हम बोल सकते है की ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पे आयोजित सेमिनार को वेबिनार बोला जाता है।

वेबिनार का मतलब क्या होता है ?

वेबिनार हिंदी के दो शब्द वेब और सेमिनार से मिल कर बना है जिससे यह साफ पता चलता है की वेब के माध्यम से आयोजित सेमिनार, वेबिनार होता है। एक तरह से देखा जाये तो वेबिनार एक इवेंट ही है जिसको इंटरनेट पे दिखाया जाता है और लोग अपने घर से निकले बिना अपने मोबाइल या PC में आसानी से देख लेते है।

वेबिनार का आयोजन किसी मीटिंग, एजुकेशन,बिज़नेस, मार्केटिंग के लिए किया जा सकता है और लोग इसे दुनिया भर से आसानी से अपने इंटरनेट के माध्यम से देख सकते है। इसका सबसे बारे फायदा यह होता है की इसे आयोजित करने के लिए की खास जगह की जरुरत नहीं परति है और इसमें किसी भी जगह से दर्शक आसानी से शामिल हो सकते है।

वेबिनार का इतिहास के बारे में 

जैसे-जैसे हमारी जरूरत बढ़ती है हम इंसान नई-नई चीजों का खोज करते रहते है ऐसे ही वेब से बात करने की खोज बहुत पहले की जा चूकी थी। आपको जानकर हैरानी होगी की वेब के माध्यम से हमें लोगो से बात करने की सुविधा 1990 के दसक में ही शुरू हो चुकी थी।

1998 में वेबिनार शब्द को ट्रेडमार्क मिला था लेकिन इसको उस समये इसे अच्छी सुरक्षा नहीं मिल पा रही थी जिस के कारन इसे इंटरनेट कॉल को सोप दिया गया ,और आज के दिनों में बहुत ऐसे सॉफ्टवेयर है जो हमें वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग और वेबिनार की सुविधा को दे रहे है।

वेबिनार कितने प्रकार के होते है 

अभी के समय में वेबिनार को मुख्यतः दो भाग में बाटा गया है :

  1. Live Webinar
  2. Recorded Webinar

1, Live Webinar: इस वेबिनार में व्यक्ति अपने दर्सको को लाइव आकर उनके सवालों जबाब देता है। इस प्रकार के वेबिनार को बिज़नेस मीटिंग, ऑनलाइन दी जाने वाले क्लासेज, किसी काम की ट्रेनिंग को देने के लिए किया जाता है।

2, Recorded Webinar : इस तरह के वेबिनार के लिए लेक्चरर पहले से अपने वीडियो को रिकॉर्ड कर के रखा होता है और दर्शक उस वीडियो को सिर्फ देख सकते है इसमें कोई भी सवाल को पूछ नहीं सकते है।

वेबिनार के फायदे क्या है 

वेबिनार के कुछ बहुत ही महत्वपूर्ण फायदे है जैसे की :

• इसके माध्यम से वीडियो और अपने प्रस्तुतीकरण को आसानी से साझा किया जा सकता है।

• इसमें हम अपने डेस्कटॉप के स्क्रीन को दूसरे के साथ शेयर कर सकते है।

• इसे बहुत की कम पैसा या बिना पैसे में ही आयोजित किया जा सकता है।

• इसमें दर्शक दुनिया में कही से भी भाग ले सकते है।

• इसके माध्यम से आप अपने घर बैठे दुनिया में कही का मीटिंग को अटेंड कर सकते है।

वेबिनार( Webinar ) के नुकसान क्या है 

ऐसा अक्सर होता है की इंसानो द्वारा बनाया हुआ चीज कही फायदा देती है तो उसके कुछ गलत प्राभाव भी होते है ऐसे ही वेबिनार के भी कुछ नुकसान है जैसे :

• अगर आप वेबिनार को आयोजित करते है तो आप के पास और आपके दर्शक के पास अच्छी गुणवत्ता की इंटरनेट कनेक्शन होनी चाहिए।

• कुछ वेबिनार को दिए हुए वक्त पे शुरू न होना या ख़तम न होना

• आप के दर्शक को मीटिंग के दौरान डिस्टर्ब होना

• होस्ट की आवाज दर्सको के पास सही से नहीं पहुंचना

• कुछ वेबिनार पेड होते है और दर्शक जिस सवाल का जवाब लेने के लिए उसे जॉइन करते है उसका जवाब नहीं मिलना ऐसे ही कुछ परेशानी को वेबिनार में झेलना पर जाता है।

वेबिनार सॉफ्टवेयर के बारे में जानकारी 

वेबिनार प्लेटफॉर्म या सॉफ्टवेयर ऑनलाइन आयोजित होने वाले सेमिनार में अहम् भागीदारी को निभाते है ये अपने टेक्नोलॉजी के मदद से ऑनलाइन आयोजित सेमिनार को बहुत ही आसान बना देते है। आप इन प्लेटफॉर्म के माध्यम से बहुत से ऑनलाइन सेमिनार जैसे ऑनलाइन क्लासेज, मीटिंग, अपनी प्रस्तुतीकरण, किसी वास्तु का प्रमोशन, ट्रेनिंग इत्यादि को आसानी से कर सकते है।

अभी के दिनों में इंटरनेट पे बहुत से वेबिनार प्लेटफॉर्म उपलब्ध है कुछ प्लेटफॉर्म फ्री है वही कुछ प्लेटफॉर्म पैसे लेकर अपने सर्विस को प्रदान करती है।

सेमिनार और वेबिनार में अंतर क्या है 

What is the difference between seminar and webinar
                                                         सेमिनार और वेबिनार में अंतर

हम आप को बताना चाहते है की सेमिनार और वेबिनार के बिच काफी अंतर है इन दोनों में कुछ यही बात है जो इन दोनों को एक दूसरे से अलग करती है, तो आइये जानते है की इनके बिच का कारन क्या है:

1. सेमिनार ऑफलाइन आयोजित किया जाता है वही वेबिनार ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पे आयोजित होती है।

2. सेमिनार को देखने के लिए दर्सको को उस अस्थान पे आना परता है जहा पे वह सेमिनार को आयोजित किया हुआ होता है, जबकि वेबिनार को दर्शक किसी भी स्थान से अपने मोबाइल या PC के मदद से देख सकता है।

3. सेमिनार को आयोजित करने के किये एक खास जगह की जरुरत परती है जहा पे उस सेमिनार को देखने वाले दर्शक को इकठा किया जा सके, जबकि वेबिनार को एक घर में बैठ कर भी आयोजित किया है और उसे दर्सक अपने घर से ही देख सकते है।

4. सेमिनार को आयोजित करने के लिए काफी ज्यादा पैसे को खर्च करना परता है, जबकि वेबिनार को आप बिना पैसा खर्च किये आयोजित कर सकते है।

5. सेमिनार में होस्ट का रहना बहुत ही जरुरी होता है वही वेबिनार में होस्ट अपने वीडियो का रिकॉर्डिंग पहले से भी कर के दिखा सकता है।

Webinar का उपयोग कैसे किया जाता है 

वेबिनार को हम कई तरह से अपने उपयोग में ला सकते है जैसे:

Online Classes: वेबिनार के माध्यम से हम घर बैठे किसी क्लास को अटेंड कर सकते है या किसी क्लास को दे सकते है।

Online Mitting : अगर आप को कोई मीटिंग को अटेंड करना हो या देना हो तो आप दुनुया में कही पर भी रह कर इस काम को वेबिनार के सहायता से कर सकते हो।

Marketing : बहुत से कंपनी अपने प्रोडकट की मार्केटिंग वेबिनार की सहायता से कर रही है जिसके कारन उनको अपने क्लाइंड के पास जाये बिना उनको अपने प्रोडक्ट के बारे में पूरी जानकारी को पंहुचा दिया जा रहा है।

ऐसे बहुत से काम है जहा पे वेबिनार का उपयोग किया जा रहा है और आप भी कर सकते हो।

वेबिनार कैसे करे ( How to do webinar )

आप भी अपने घर पे ही बैठ कर वेबिनार को आयोजित कर सकते है इसके लिए आपको कुछ चीजों की जरुरत पड़ेगी जैसे : आप के पास इंटरनेट की कनेक्टिविटी होना बहुत ही जरुरी है,

एक मोबाइल या कंप्यूटर या लेपटॉप , वेबिनार आयोजित करने वाला प्लेटफॉर्म या सॉफ्टवेयर और आपके आवशयकता के अनुसार प्रस्तुतीकरण सॉफ्टवेयर। इसके साथ जो लोग आप के साथ जुरना चाहते है उनके पास भी मोबाइल और इंटरनेट कनेक्शन होना जरुरी है।

जिस विषय पे आप अपने वेबिनार को आयोजित करना चाहते हो उसका गहन ज्ञान आप के पास होना चाहिए साथ में आपके पास एक अच्छा एस्क्रीप्ट तैयार होना चाहिए।

इन सब के आलावा आप को कुछ इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस का भी इस्तेमाल करना चाहिए जैसे कैमरा , माइक्रोफोन इत्यादि।

वेबिनार आयोजित करते समय यह बात का ध्यान रखे की आप जहा पे हो वहा पे रौशनी होना चाहिए और किसी भी तरह का शोर नहीं होना चाहिए।

वेबिनार (webinar )के लिए सॉफ्टवेयर कौन – कौन है

आज के दिन में बहुत से सॉफ्टवेयर उपलब्ध है जो की हमें वेबिनार करने की सुविधा को प्रदान कर रही है जैसे

1. Adobe Connect

2. Go To webinar

3. On24

4. Zoho Meeting

5. Zoom Video

6. Google Hangouts

7. Skype Live

ये सभी ऐसे सॉफ्टवेयर है जो हमें वेबिनार करने की सुविधा को देते है।

इसे भी पढ़े : 

क्रिप्टोकरेंसी क्या है | क्रिप्टो करेंसी की कीमत कैसे तय होती है

नेटवर्क मार्केटिंग क्या है ( network marketing kya hai )

lic merchent क्या होता है

अंतिम शब्द

दोस्तों इस आर्टिकल में हमने वेबिनार क्या है | सेमिनार और वेबिनार में अंतर क्या है से जुड़ी हर सवालों की जबाब देने की कोशिस की है .लेकिन फिर भी वेबिनार से जुड़ी आपके पास कोई सवाल हो तो हमें कमेंट में जरूर पूछे। हमें आसा है की आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा और वेबिनार क्या होता है आप अच्छे से समझे होंगे।

 

comment here